Monday 25th of March 2019
खोज

 
livehindustansamachar.com
समाचार विवरण  
 किसी मित्र को मेल पन्ना छापो   साझा यह समाचार मूल्यांकन करें      
Save This Listing     Stumble It          
 राफेल को यूं ही नहीं उड़ने देगी कांग्रेस, मोदी सरकार पर दागे 11 सवाल (Mon, Dec 17th 2018 / 22:24:08)

 


लाइव हिंदुस्तान समाचार
कांग्रेस पार्टी के लिए 'राफेल' अब केवल एक लड़ाकू हवाई जहाज नहीं रहा, बल्कि 2019 के लिए पार्टी इसे अपना प्रमुख सारथी मानकर आगे बढ़ रही है। कांग्रेस 'राफेल' को यूं ही नहीं उड़ने देगी। सोमवार को एक बार फिर दोनों पार्टियां राफेल को लेकर आमने-सामने आ गईं। भाजपा ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले को केंद्र में रखकर 70 जगहों पर प्रेसवार्ता कर दी। मोदी सरकार के मंत्रियों और पार्टी पदाधिकारियों ने कांग्रेस पार्टी पर आरोप लगाया कि वह राफेल पर झूठ बोल रही है। दूसरी ओर, कांग्रेस पार्टी ने भी सुप्रीम कोर्ट के फैसले को आधार बनाकर भाजपा पर न केवल हमला बोला बल्कि पार्टी ने मोदी सरकार की प्रेसवार्ताओं को 'झूठ की फैक्ट्री' करार दे दिया और उस पर 11 सवाल भी दाग दिए।
कांग्रेस पार्टी के नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा, हम शुरु से ही कह रहे हैं कि मोदी सरकार राफेल के मामले में फंस चुकी है। अब वह राफेल को लेकर झूठ पर झूठ बोले जा रही है। मोदी सरकार ने खुद को बचाने के लिए सुप्रीम कोर्ट के समक्ष गलत तथ्य पेश कर दिए। पीएसी की कहीं कोई बैठक ही नहीं हुई, लेकिन कोर्ट के फैसले में लिखा है कि मामला पीएसी की टेबल से होकर गुजरा है। कोर्ट को ये सब किसने बताया। सामान्य सी बात है कि मोदी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में ये सब जवाब दिए हैं। कोर्ट को गुमराह करने का प्रयास किया गया।
सुरजेवाला ने कहा, क्या ये अपने आप में एक जुर्म नहीं है। इससे पहले कांग्रेस पार्टी के नेता कपिल सिब्बल ने भी कहा था कि मोदी सरकार द्वारा सुप्रीम कोर्ट में पेश किया गया हलफनामा झूठ का पुलिंदा था और यह एक संगीन मामला बनता है। रणदीप सुरजेवाला ने मोदी सरकार से इन सवालों का जवाब मांगा है।
पहला सवाल:
राफेल पर सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का आधार सीएजी रिपोर्ट है (पैरा-25), लेकिन सीएजी ने तो कोई रिपोर्ट दी ही नहीं। खास बात है कि यह सीएजी रिपोर्ट न तो संसद में पेश हुई और न ही पीएसी के सामने प्रस्तुत की गई। फिर सुप्रीम कोर्ट के साथ इतना बड़ा धोखा क्यों?
दूसरा सवाल:
सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का आधार रिलायंस कंपनी का साल 2012 से ही दसॉल्ट एविएशन से चला आ रहा समझौता है (पैरा-32)। खास बात रिलायंस डिफेंस लिमिटेड का गठन तो 28 मार्च 2015 को हुआ था फिर सुप्रीम कोर्ट को ये गलत तथ्य देकर क्यों बरगलाया गया?
तीसरा सवाल
सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का आधार फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति ओलांद का खुलासा कि मोदी सरकार ने राफेल का ठेका रिलायंस को दिलाया, जबकि इसे दोनों पक्षों ने नकार दिया। ओलांद ने 21 सितंबर को अपना बयान फिर दोहराया। 27 सितंबर को मैक्रान ने कहा- वो ओलांद की बात खारिज नहीं कर सकते। फिर सुप्रीम कोर्ट से छल क्यों किया गया?
चौथा सवाल:
सरकारी कंपनी का राफेल ठेके से कोई सरोकार नहीं (पैरा-32), लेकिन एचएएल व दसॉल्ट का समझौता 13 मार्च 2014 को हो चुका था। 25 मार्च को दसॉल्ट के सीईओ ने बेंगलुरु में इसकी पुष्टि भी कर दी। 8 अप्रैल 2015 को विदेश सचिव ने एचएएल-दसॉल्ट के समझौते को माना फिर कोर्ट से धोखा क्यों?
पांचवां सवाल:
सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का पांचवा आधार, वादी ने कहा कि फ्रांस द्वारा सोवरेन गारंटी न देकर मात्र एक लेटर ऑफ कम्फर्ट दिया गया। (पैरा-20) सुप्रीम कोर्ट ने इस पर कोई फ़ैसला नहीं दिया। इसके बाद 12 सितंबर 2015 और 23 अगस्त 2016 को कानून मंत्रालय द्वारा किए गए विरोध के प्रति भी सुप्रीम कोर्ट को नहीं दिखाई गई। कोर्ट से यह छिपाव क्यों?
छठा सवाल:
रक्षा खरीद समिति (डीएसी) की अनुमति के साथ 10 अप्रैल 2015 को 36 राफ़ेल खरीद की घोषणा हुई (पैरा-3), लेकिन डीएसी की बैठक तो 13 अप्रैल 2015 को हुई जहां 36 राफ़ेल खरीदने का निर्णय हुआ। फिर मोदी ने एक महीना पहले यह फैसला कैसे ले लिया। यहां पर भी सुप्रीम कोर्ट को गुमराह कर दिया गया।
सातवां सवाल:
सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का सातवां आधार 36 राफेल खरीद सौदा 23/9/2016 को हुआ, लेकिन ओलांद के 21/9/2018 के खुलासे से पहले किसी ने विरोध नहीं किया (पैरा-23)। कांग्रेस ने इस घोटाले का भंडाफोड़ 23/5/2015 को ही कर दिया था। फिर सरकार ने सर्वोच्च अदालत को सच क्यों नहीं बताया?
आठवां सवाल:
सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का आठवां आधार-वायुसेना प्रमुख ने राफेल की कीमत बताने पर ऐतराज जताया (पैरा-25)। वायुसेना प्रमुख न तो कोर्ट आए और न ही कोई शपथ पत्र दाख़िल किया। वायुसेना के अधिकारियों से कीमत बारे कोई सवाल अदालत में नहीं पूछा गया। फिर सर्वोच्च अदालत को क्यों भटकाया गया?
नौंवा सवाल:
126 राफेल की बजाय मात्र 36 राफेल खरीदने का निर्णय मोदी सरकार का नीतिगत फैसला है (पैरा-22), लेकिन वायुसेना की 126 जहाजों की जरुरत खारिज कर मनमर्जी से 36 जहाज खरीदना राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ समझौता है। इस बाबत सुप्रीम कोर्ट के समक्ष औचित्य क्यों नहीं बताया गया?
दसवां सवाल:
रक्षा खरीद प्रणाली DPP-2013 के मुताबिक, बगैर सरकारी हस्तक्षेप के डसॉल्ट ऑफसेट पार्टनर चुन सकती थी (पैरा-33), मगर DPP-2013 में यह शर्त 5/8/2015 को ही जोड़ी गई है, जबकि राफेल खरीद की घोषणा 10/4/2015 को हुई थी। सुप्रीम कोर्ट से यह विश्वासघात क्यों?
ग्यारहवां सवाल:
सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का ग्यारहवां आधार-मोदी सरकार ने कहा कि 36 राफेल की कीमत फायदेमंद सौदा है (Para-26), लेकिन कांग्रेस जो एक राफेल 526 करोड़ में खरीद रही थी, वो मोदी ने 1670 करोड़ में क्यों खरीदा। इससे देश को 41,205 करोड़ का चूना लगा है, यह सच कोर्ट को क्यों नहीं बताया गया?

livehindustansamachar.com
 
समान समाचार  
livehindustansamachar.com
     
डांसर सपना चौधरी ने कांग्रेस में शामिल होने की खबरों से किया इनकार !

नई दिल्ली ब्यूरो
हरियाणवी डांसर सपना चौधरी ने कांग्रेस में शामिल होने की खबरों से इनकार कर दिया है। उन्होंने बाकायदा एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस बात का खुलासा किया। उन्होंने कहा कि मीडिया में इससे जुड़ी जो तस्वीरें चल रह

read more..

डांसर सपना चौधरी ने कांग्रेस में शामिल होने की खबरों से किया इनकार !

चुनाव आयोग की चेतावनी, सबरीमाला मुद्दे का इस्तेमाल न करें पार्टियां

जन औषधि दिवस : पीएम के उद्गार सुनने जनऔषधि केंद्र पर उमड़े लोग

एयर स्ट्राइक पर पूर्व रॉ प्रमुख ने कहा- राष्ट्रीय सुरक्षा पर न हो राजनीति

पुलवामा हमला भारत के खिलाफ अप्रत्यक्ष युद्ध, रोज शहीद हो रहे हैं जवान !

PM के भाई ने कहा-300 से ज्यादा सीटें जीतेगी NDA,फिर सत्ता में लौटेंगे मोदी

कुसमरिया का कांग्रेस में आना सिर्फ ट्रेलर, पिक्चर अभी बाकी है: कमलनाथ

पाक व पीओके में चल रहे 16 आतंकी कैंप, घाटी में सक्रिय 450 आतंकी: सेना

उत्तरप्रदेश नहीं देश में होगी प्रियंका गांधी वाड्रा की भूमिका : राहुल गांधी

चंदौसी में कोलकाता पुलिस कमिश्नर की मां का बयान, मेरा बेटा ईमानदार !

24 घंटे में सुलझा सकते हैं अयोध्या विवाद : सीएम योगी आदित्यनाथ

कलेक्टर ने पत्रकार वार्ता में पत्रकारों से की जिले के विकास पर चर्चा

मायावती पर भाजप MLA की अभद्र टिप्पणी : प्रियंका ने कहा-सभ्य समाज में स्वीकार नहीं

शांति का टापू कहा जाने वाला मध्यप्रदेश बन रहा केरल और पश्चिम बंगाल : मिश्रा

ढाई नहीं, मैं पूरे पांच साल रहूंगा छत्तीसगढ़ का मुख्यमंत्री : CM भूपेश बघेल

मोदी सरकार से लोग परेशान, नए PM की बाट जोह रहा है देश : अखिलेश

अतिआत्मविश्वास से कांग्रेस विंध्य में नहीं जीत पाई : राज्यसभा सांसद राजमणि पटेल

सपा-बसपा के गठबंधन से भाजपा में बेचैनी : सपा प्रदेश अध्यक्ष

मुख्यमंत्री कमलनाथ के निर्णय की रीवा जिले के युवाओ ने की प्रशंसा

भाजपा के मुंह से लोकतंत्र की बात शैतान के मुंह से प्रवचन जैसा : प्रदीप सिंह

मोदी का मजाक उड़ाते हैं ट्रंप और भाजपा चुप रहती है, जवाब दो : कांग्रेस

माया-अखिलेश के गठबंधन में डॉ. लोहिया की चिट्ठी की अहम भूमिका

2019 का चुनाव विकास, और देश के आत्मसम्मान मुद्दे पर लड़ेंगे : भाजपा

कांग्रेस ने नभ, थल और जल में किया घोटाला : CM योगी आदित्यनाथ

द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर फिल्म प्रसारित हुई तो फूॅक देंगे सिनेमाघर :NSUI जिलाध्यक्ष

राज्यसभा जाएंगे पासवान,भाजपा,जदयू,लोजपा में 17+17+6 सीटों पर डील

विहिप का आरोप पैसे लेकर अभिनय करना नसीरुद्दीन का पेशा

अवैध शराब विक्रय के 3 मामलों में 1000-1000 का अर्थदण्‍ड

मैं ऐसा प्रधानमंत्री नहीं था जो मीडिया से बात करने में घबराता हो : मनमोहन

अवैध शराब परिवहन के मामले में जमानत निरस्‍त कर भेजा जेल

voice news
हमारे रिपोर्टर  
 
 
View All हमारे रिपोर्टर
पंचांग-पुराण   
महाशिवरात्रि : पुलिस ने रोका रास्ता, किन्नर अखाड़ा ने नहीं किया अमरत्व स्नान
स्फटिक शिवलिंग की पूजा से धन और सोने के शिवलिंग से मिलता है ऐश्वर्य
महाशिवरात्रि : शिव के वैराट्य का उत्सव है महाशिवरात्रि
कुंभ 2019 : महाशिवरात्रि पर त्रिवेणी में स्नान के लिए उमड़े श्रद्धालु, मंदिरों में जुटे भक्त
पीएम ने संगम में लगाई डुबकी, सफाई और सुरक्षा कर्मियों को किया सम्मानित
live tv
livehindustansamachar.com
livehindustansamachar.com
livehindustansamachar.com
livehindustansamachar.com
livehindustansamachar.com
 
पंचांग-पुराण   
राशिफल अंक राशि
शुभ पंचांग कुम्भ [ महाकुम्भ ]
आस्था प्रवचन
हस्तरेखा वास्तु
रत्न फेंग शुई
कुंडली विशेष दिवस
सुविचार व्रत -उपवास
प्रेरक प्रसंग
 
लाइव अपडेट  

लाइव हिंदुस्तान समाचार

 
समाचार चैनल  
स्थानीय राजनीति
खेल स्वास्थ्य
Business अपराध
जीवन शैली शिक्षा
String धरोहर [ऐतिहासिक]
प्रदर्शन [ विरोध ] शासन
सम्पादकीय अंतर्राष्ट्रीय
सोशल मीडिया JOB
मनोरंजन न्यायालय
आपदा [ घटना ] अनुसंधान
आलेख [ब्लॉग] सम्मान [ पुरस्कार ]
आयोग [ बोर्ड ] ELECTION-2019
कार्यक्रम टेक्नोलॉजी
संगठन मौसम
परीक्षा [ टेस्ट ] रिपोर्ट [ सर्वे ]
भष्ट्राचार बागवानी [ कृषि ]
कॉन्फ्रेंस [ विज्ञप्ति ] श्रधांजलि
आम बजट-2019 सदन [ संसदीय ]
योजना रिजल्ट [परिणाम]
प्रशासन जनरल नॉलेज
होली [स्पेशल ]
 
Submit Your News
 
 
 | होम  | धरोहर [ऐतिहासिक]  | आपदा [ घटना ]  | जनरल नॉलेज  | अनुसंधान  | सम्पादकीय  | शासन  | आम बजट-2019  | अंतर्राष्ट्रीय  | मौसम  | बागवानी [ कृषि ]  | कार्यक्रम  | स्थानीय  | कॉन्फ्रेंस [ विज्ञप्ति ]  | आलेख [ब्लॉग]  | सम्मान [ पुरस्कार ]  | भष्ट्राचार  | शिक्षा  | अपराध  | सदन [ संसदीय ]  | परीक्षा [ टेस्ट ]  | न्यायालय  | रिजल्ट [परिणाम]  | रिपोर्ट [ सर्वे ]  | योजना  | सोशल मीडिया  | जीवन शैली  | मनोरंजन  | JOB  | राजनीति  | टेक्नोलॉजी  | Business  | होली [स्पेशल ]  | आयोग [ बोर्ड ]  | खेल  | श्रधांजलि  | स्वास्थ्य  | String  | प्रदर्शन [ विरोध ]  | संगठन  | प्रशासन  | ELECTION-2019  | तेलंगाना  | अरुणाचल प्रदेश  | छत्तीसगढ़  | कर्नाटक  | दिल्ली  | हरियाणा  | चंडीगढ़  | दमन और दीव  | मणिपुर  | राजस्थान  | पंजाब  | दादरा और नगर हवेली  | पश्चिम बंगाल  | झारखंड  | बिहार  | पांडिचेरी  | केरल  | मध्य प्रदेश  | उत्तरांचल  | मेघालय  | सिक्किम  | जम्मू और कश्मीर  | गुजरात  | अंडमान एवं निकोबार  | तमिलनाडु  | मिजोरम  | लक्ष्यदीप  | त्रिपुरा  | हिमाचल प्रदेश  | आंध्र प्रदेश  | उड़ीसा  | महाराष्ट्र  | असम  | उत्तर प्रदेश  | नगालैंड  | गोवा  | नियम एवं शर्तें  | गोपनीयता नीति  | विज्ञापन हमारे साथ  | हमसे संपर्क करें
 
livehindustansamachar.com Copyrights 2016-2017. All rights reserved. Designed & Developed by : livehindustansamachar.com
 
Hit Counter