Wednesday 16th of January 2019
खोज

 
livehindustansamachar.com
समाचार विवरण  
 किसी मित्र को मेल पन्ना छापो   साझा यह समाचार मूल्यांकन करें      
Save This Listing     Stumble It          
 मकर संक्रांति के बाद किसानों, बेरोजगारों को केंद्र सरकार का मिलेगा तोहफा (Fri, Jan 11th 2019 / 21:00:38)

 


चन्द्रिका प्रसाद तिवारी
गरीब सवर्णों को 10 फीसदी आरक्षण का लाभ देने के बाद मोदी सरकार अब किसानों, बेरोजगारों और गरीबों के लिए जल्द ही खजाना खोलने जा रही है। केंद्र सरकार, अगली कैबिनेट बैठक में इस बात का एलान कर सकती है। यह बैठक मकर संक्रांति के ठीक एक दिन बाद 16 जनवरी को होगी।
खाते में एकमुश्त ट्रांसफर होगी रकम
केंद्र सरकार मकर संक्रांति के बाद एक और मास्टर स्ट्रोक देने जा रही है। कैबिनेट की अगली बैठक में सरकार सभी तरह के किसानों, बेरोजगारों और गरीब लोगों को एक मुश्त 30 हजार रुपये की मदद देने का एलान कर सकती है। सूत्रों के मुताबिक इस मदद को यूनिवर्सल बेसिक इनकम स्कीम (यूबीआई) के तहत दिया जाएगा।
खत्म हो जाएगी सब्सिडी
हालांकि इस स्कीम के लागू होने के बाद लोगों को राशन और एलपीजी सिलेंडर पर मिलने वाली सब्सिडी का फायदा नहीं मिलेगा। इसमें वो किसान भी शामिल होंगे, जो दूसरों के यहां मजदूरी करते हैं।  नए प्रस्ताव के मुताबिक किसानों को खेती के लिए अब सरकार सीधे खाते में पैसे देगी। खास बात यह है कि जिन किसानों के पास अपनी जमीन नहीं है, सरकार उन्हें भी इस स्कीम में शामिल करके फायदा पहुंचाएगी।
प्रत्येक महीने मिलेगी इतनी रकम
मोदी सरकार के प्लान के मुताबिक गरीब किसानों व बेरोजगारों को प्रत्येक महीना 2500 हजार रुपया दिया जाएगा। यह राशि हर महीने के बजाए एकमुश्त दी जाएगी।  किसान के परिवार को भी मदद पहुंचाई जा सकती है।  राहत पैकेज में बीमा, कृषि लोन, आर्थिक मदद दी जा सकती है। स्कीम में छोटे, सीमांत और बटाईदारों या किराया पर किसानी करने वाले किसानों को फायदा देने पर जोर है।
क्या है मोदी सरकार की स्कीम
किसानों को राहत देने के लिए मोदी सरकार ने जिन दो मॉडल का अध्ययन किया है उसमें ओडिशा का मॉडल ज्यादा दमदार है। ओडिशा के कालिया मॉडल में किसानों को 5 क्रॉप सीजन में 25000 रुपये दिए जाते हैं।  हालांकि, मोदी सरकार किसान को सालाना एक मुश्त आर्थिक मदद देने पर विचार कर रही है।
क्या है यूबीआई
संसद में वर्ष 2017-17 के लिए पेश आर्थिक सर्वेक्षण में इसका जिक्र किया गया है। आर्थिक सर्वेक्षण में कहा गया था कि यूबीआई एक बेहद शक्तिशाली विचार है और यदि यह समय इसे लागू करने के लिए परिपक्व नहीं है तो इस पर गंभीर चर्चा तो हो ही सकती है।
इसमें कहा गया है कि सिर्फ केन्द्र सरकार की ही करीब 950 योजनाएं चलती हैं जिस पर सकल घरेलू उत्पाद की करीब पांच फीसदी राशि खर्च होती है। इसके अलावा मध्यम वर्ग को खाद्य, रसोई गैस और उर्वरक पर सकल घरेलू उत्पाद की तीन फीसदी राशि खर्च होती है। यह राशि लक्ष्य समूह तक पहुंच सके, इसमें यूबीआई सहायक हो सकता है।
बैंक खाते में ट्रांसफर होगी राशि
इसमें कहा गया है कि हर आंख से आंसू पोछने का महात्मा गांधी का उद्देश्य पूरा करने में यूबीआई सफल हो सकता है। इस योजना में राशि का हस्तांतरण सीधे लाभार्थी के बैंक खाते में होगा, इसलिए लाल फीताशाही या ब्यूरोक्रेसी से इसे निजात मिल सकती है।
इसमें कहा गया था कि यूबीआई के लिए जन धन, आधार और मोबाइल -जैम- में से दो चीजें तो पूरी तरह से कार्यशील हैं। सर्वेक्षण में अनुमान लगाया गया था कि इसे लागू करने से गरीबी में आधा फीसदी की कमी हो सकती है और इसे लागू करने पर सकल घरेलू उत्पाद का महज चार से फीसदी राशि ही लगेगी।
2019 के चुनाव पर नजर
केंद्र सरकार की अब सीधे नजर मई 2019 में होने वाले आम चुनावों पर है। इसलिए वो बजट में इस योजना की घोषणा करना चाहती है, ताकि एनडीए एक बार फिर से भारी बहुमत से जीत सकें। मोदी सरकार इस स्कीम पर दो साल से काम कर रही है।
भारत सरकार के मुख्य आर्थिक सलाहकार रहे अरविंद सुब्रमण्यन ने 29 जनवरी 2018 को कहा था कि अगले सालों में 1 और 2 राज्यों में यूनिवर्सल बेसिक इनकम की शुरुआत हो सकती है। सुब्रमण्यन ने 2016-17 के आर्थिक सर्वे में यह सिफारिश की थी।
यहां पर हो चुका है पायलट प्रोजेक्ट
मध्य प्रदेश में साल 2010 से 2016 तक चले पायलट प्रॉजेक्ट में काफी सकारात्मक नतीजे आए थे। इंदौर के 8 गांवों की 6,000 की आबादी के बीच पुरुषों और महिलाओं को 500 और बच्चों को हर महीने 150 रुपये दिए गए। इसी तरह तेलंगाना और झारखंड जैसे छोटे राज्यों में भी इस तरह की स्कीम चल रही है। तेलंगाना में सरकार किसानों को फसल बोने से पहले और बाद में 4-4 हजार रुपये की मदद देती है।
इन देशों में लागू है यूबीआई
साइप्रस, फ्रांस, अमेरिका के कई राज्य, ब्राजील, कनाडा, डेनमार्क, फिनलैंड, जर्मनी, नीदरलैंड, आयरलैंड, लग्जमबर्ग जैस देशों में इस तरह की व्यवस्था पहले से लागू है।

 
समान समाचार  
livehindustansamachar.com
     
ग्राम पंचायतों में उचित मूल्य दुकान संचालन के लिये प्रस्ताव आमंत्रित

रीवा ब्यूरो
सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग द्वारा सभी ग्राम पंचायतों में उचित मूल्य दुकानें खोली जा रही हैं। इसके लिये विभाग की वेबसाइट पर 17 जनवरी से 22 जनवरी तक ऑनलाइन आवेदन किये जा सकते है

read more..

ग्राम पंचायतों में उचित मूल्य दुकान संचालन के लिये प्रस्ताव आमंत्रित

जय किसान फसल ऋण माफी योजना : 5 फरवरी अन्तिम तिथि

ब्याज रहित और बिना गारंटी के किसानों को मिलेगा 3 लाख रुपए तक का लोन !

जागरूकता अभियान : महाविद्यालय में गठित होगा इलेक्‍ट्रोलर लिट्रेसी क्लब

ढाई करोड़ मिलने के बाद भी 239 प्रधानमंत्री आवास अब तक अपूर्ण

पर्यावरण संरक्षण : एचसीएल का कमाल, कचरे से निकलेगा ''सोना-चांदी''

हरियाणा को रौशन करेगा लद्दाख, परियोजनाओं में 45,000 करोड़ का खर्चा

किसानों की समस्याओं को लेकर संवेदनशील है प्रदेश सरकार : जिला पंचायत अध्यक्ष

आगरा में बोले PM- सवर्ण आरक्षण के लिए किसी का हक नहीं छीना

10 % आरक्षण : उच्च शिक्षण संस्थानों में बढ़ानी होंगी 10 लाख नई सीट

सवर्ण आरक्षण से गरीबों को लाभ कम, नुकसान अधिक होने की आशंका !

शिवशक्ति के सामने नतमस्तक हुआ चंदौली में रेलवे प्रशासन

75 महिलाओं को जागरूक करने भेजा गया काशी भ्रमण ,SP ने दिखाई हरी झण्डी

केन्द्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री ने मड़िहान में 600 लोगों को बांटा कम्बल

मीरगंज में स्वयसेविओं ने चलाया स्वच्छता अभियान

उज्ज्वला योजना : मुफ्त मिलेगा गैस कनेक्‍शन, भरना होगा 14 बिन्दुओ का घोषणा-पत्र

मध्य प्रदेश में भाजपा को सूर्य नमस्कार और योग पर रोक लगने की आशंका !

ट्रांसफार्मर समय से न पहुंचने पर निर्माण कंपनियों की बढ़ी चिंता

रीवा-शहडोल संभाग के 13 लाख 77 हजार 671 संबल कार्ड रिजेक्ट

भोपाल से हैदराबाद की सीधी हवाई सेवा शुरू, सीएम कमलनाथ ने किया शुभारंभ

BPL परिवारों को भी मिलेगा फ्री उज्जवला गैस कनेक्शन

उप तहसील भवन एवं आवासीय भवनों के लिये बाकल में भूमि आरक्षित

उडऩदस्ते रोकेंगे यूपी से सतना में धान की आवक

पूर्व सीएम की फोटो ने अटकाया संबल, आगामी आदेश तक रोक

जिला स्तरीय गोपाल पुरस्कार में मिलेगी 50 हजार रूपये की राशि

डीएम, विधायक व सीडीओ ने गौ आश्रय केन्द्र की रखी आधाशिला

हमीरपुर से प्रयागराज के लिए चलेंगी 127 रोडवेज बस

विधानसभा अध्यक्ष ने उन्नाव में गोशाला का किया शिलान्यास

किसानों, बेरोजगारों को भी हर महीने मिलेगी सैलरी !

PM मोदी ने देश को दिया सबसे लंबे रेल सह सड़क पुल का तोहफा

voice news
हमारे रिपोर्टर  
 
 
View All हमारे रिपोर्टर
पंचांग-पुराण   
कुंभ 2019: मकर संक्रांति पर स्नान का पूर्वजों को भी मिलता है लाभ
कुंभ 2019 : जूना अखाड़ा के साथ किन्नर अखाड़ा ने संगम तट पर लगाई डुबकी
कुंभ मेला 2019: शाही स्नान से पहले श्रद्धालुओं ने लगाई आस्था की डुबकी
मकर संक्रांति पर आस्था की डुबकी लगाने एक करोड़ से अधिक श्रद्धालु पहुंचे संगम तट
प्रयागराज कुंभ 2019 :पीएम ने दी शुभकामनाएं, स्मृति ईरानी ने किया संगम तट पर स्नान
live tv
livehindustansamachar.com
livehindustansamachar.com
livehindustansamachar.com
livehindustansamachar.com
livehindustansamachar.com
 
पंचांग-पुराण   
राशिफल अंक राशि
शुभ पंचांग कुम्भ [ महाकुम्भ ]
आस्था प्रवचन
हस्तरेखा वास्तु
रत्न फेंग शुई
कुंडली विशेष दिवस
सुविचार व्रत -उपवास
प्रेरक प्रसंग
 
लाइव अपडेट  

HEAD OFFICE
लाइव हिंदुस्तान समाचार वेब न्यूज़ पोर्टल
LIVEHINDUSTANSAMACHAR.COM
Nagar Sirmaur, Tehsil Sirmaur
District Rewa [MP] India
Zip Code-486448
AT@ LIVEHINDUSTANSAMACHAR.COM
Mob- +919425330281,+919893112422

 
समाचार चैनल  
LOCAL राजनीति
SPORTS स्वास्थ्य
BUSINESS CRIME
जीवन शैली शिक्षा
STRING धरोहर [ऐतिहासिक]
प्रदर्शन [ विरोध ] शासन
EDITORIAL अंतर्राष्ट्रीय
SOCIAL MEDIA JOB
मनोरंजन COURT
आपदा [ घटना ] अनुसंधान
आलेख [ब्लॉग] सम्मान [ पुरस्कार ]
आयोग [ बोर्ड ] कार्यक्रम
TECHNOLOGY संगठन
मौसम परीक्षा [ टेस्ट ]
रिपोर्ट [ सर्वे ] भष्ट्राचार
बागवानी [ कृषि ] कॉन्फ्रेंस [ विज्ञप्ति ]
श्रधांजलि आम बजट
सदन [ संसदीय ] योजना
प्रशासन
 
Submit Your News
 
 
 | होम  | BUSINESS  | मनोरंजन  | स्वास्थ्य  | भष्ट्राचार  | आपदा [ घटना ]  | आयोग [ बोर्ड ]  | आम बजट  | प्रदर्शन [ विरोध ]  | सदन [ संसदीय ]  | संगठन  | बागवानी [ कृषि ]  | राजनीति  | TECHNOLOGY  | JOB  | अनुसंधान  | STRING  | परीक्षा [ टेस्ट ]  | कार्यक्रम  | मौसम  | SOCIAL MEDIA  | रिपोर्ट [ सर्वे ]  | COURT  | शिक्षा  | योजना  | श्रधांजलि  | अंतर्राष्ट्रीय  | जीवन शैली  | SPORTS  | सम्मान [ पुरस्कार ]  | LOCAL  | EDITORIAL  | कॉन्फ्रेंस [ विज्ञप्ति ]  | शासन  | आलेख [ब्लॉग]  | प्रशासन  | CRIME  | धरोहर [ऐतिहासिक]  | नगालैंड  | तमिलनाडु  | उत्तरांचल  | मिजोरम  | लक्ष्यदीप  | अंडमान एवं निकोबार  | असम  | महाराष्ट्र  | चंडीगढ़  | जम्मू और कश्मीर  | गोवा  | दादरा और नगर हवेली  | झारखंड  | त्रिपुरा  | अरुणाचल प्रदेश  | दमन और दीव  | पश्चिम बंगाल  | मेघालय  | दिल्ली  | पंजाब  | सिक्किम  | उत्तर प्रदेश  | बिहार  | छत्तीसगढ़  | हिमाचल प्रदेश  | केरल  | राजस्थान  | कर्नाटक  | तेलंगाना  | मध्य प्रदेश  | गुजरात  | उड़ीसा  | पांडिचेरी  | मणिपुर  | आंध्र प्रदेश  | हरियाणा  | नियम एवं शर्तें  | गोपनीयता नीति  | विज्ञापन हमारे साथ  | हमसे संपर्क करें
 
livehindustansamachar.com Copyrights 2016-2017. All rights reserved. Designed & Developed by : livehindustansamachar.com
 
Hit Counter