Friday 10th of April 2020
खोज

 
livehindustansamachar.com
समाचार विवरण  
 किसी मित्र को मेल पन्ना छापो   साझा यह समाचार मूल्यांकन करें      
Save This Listing     Stumble It          
 भू-माफियाओ का वन-विभाग की भूमि पर प्रशासन के संरक्षण में अवैध कब्जा (Mon, Feb 4th 2019 / 23:27:29)

 


शशि भूषण दुबे @ मिर्जापुर
स्थानीय थाना क्षेत्र के विभिन्न इलाकों में सरकारी भूमि पर अवैध कब्जा कर भूमि माफिया धड़ल्ले से जमीनों की खरीद फरोख्त कर रहे है। थाना क्षेत्र के भैंसा खोह जंगल, पियरी, उसरा, छातो जैसे जंगली, पहाड़ी क्षेत्रों में भूमि माफिया लोग गलत तरीके से जमीन का खसरा खतौनी बना उसे बेचकर मोटी रकम कमाई कर रहे हैं। स्थानीय लोगों की माने तो किसी एडवोकेट के द्वारा करीब पंद्रह सौ एकड़ भूमि पर मालिकाना हक कई सालों से जताया जा रहा है। जिसका मामला न्यायालय में विचाराधीन है। उसी की आड़ में उक्त व्यक्ति के द्वारा वन विभाग की जमीन को टुकड़ों टुकड़ों में करके व्यापारियों, भूमि माफियाओं को बेचा जा रहा है। अगर भैंसा खोह जंगल की बात करें तो पूरा जंगल क्षेत्र में सैकड़ों बीघा भूमि बिक्री कर उस पर तरह तरह के रोजगार किये जा रहे हैं और मालिकाना हक जताने वाले लोगो ने बकायदे जमीन की बैरिकेडिंग कर पौधों का प्लांटेशन, विदेशी सब्जियों का पैदावार किया कर रहेहै जिसको बाहर एक्सपोर्ट कर मोटी कमाई की जाती है। वहीं दूसरी ओर बनारस के ही किसी डॉक्टर के द्वारा सैकड़ों बीघा भूमि का बाउंड्री वाल करा उसके अंदर अमरूद एवं अन्य फलों का बागवानी लगा दिया गया। वनविभाग के अधिकारि व सम्बंधित विभाग के अधिकारियों की मिलीभगत से इस सरकारी भूमि को धड़ल्ले से बेचने का कार्य किया जा रहा है और तो और विवाद होने के बाद उससे बाहर निकलने के तरीके भी अधिकारी भूमि माफिया को सुझा रहे हैं। पेड़ो को काटा जा रहा है और धीरे धीरे करके यह क्षेत्र मैदान में तब्दील होता जा रहा है। जहां पर पहले घने जंगल हुआ करते थे उस जगह जेसीबी मशीनों को लगा कर के पूरे भूमि को समतल कर दिया गया और जहां पर भी पत्थर बीच मे आया वहां के पत्थर को निकाल कर भूमि माफिया उसका बाउंड्री करा दिए एवमं अधिक पत्थर होने पर उसे बेच दिए। नगर से महज 7 से 10 किलोमीटर की दूरी पर यह कार्य धरल्ले से चल रहा है। इसका आवाज कई बार स्थानीय ग्रामीण, समाजसेवी ,पत्रकारों के द्वारा पत्राचार के माध्यम से किया जा चुका है | किंतु अधिकारी अपनी जेब भर पूरे वाकए पर हर बार पर्दा डाल देते हैं। एक तरफ योगी और मोदी सरकार इन भूमि माफियाओं के खिलाफ अभियान चलाकर के अंकुश लगाने की बात करती है तो दूसरी ओर उनके ही अधिकारी इन नेताओं के विचारों को नजरअंदाज कर सिस्टम और सरकार व जनता तीनो का बंटाधार कर रहे हैं।
मजदूर की मौत के मामले में प्लांट मालिक व श्रमिकों का अलग बयान
स्थानीय थाना क्षेत्र के सोनपुर घाटी में शनिवार को हुई मजदूर की दर्दनाक मौत मामले में प्लांट के मालिक राजू खान का कहना है कि घटना सुबह के वक्त हुई थी किंतु मृतक मजदूर के साथ काम कर रहे अन्य मजदूरों का कहना है की घटना रात्रि 1 बजे घटी जिससे मजदूर की मौत हो गई। मशीन में पानी डालने के दौरान मजदूर का साल फैन बेल्ट में फस गया जिससे घुटन हो करके उसकी मौत हो गई। जब यह घटना हुई उस वक्त रात्रि के 1 बज रहे थे और सभी मशीनें धड़ाधड़ चल रही थी। उसी दौरान  मजदूर फैन बेल्ट में फंसकर तड़पता रहा जब तक की मशीन गर्म होकर के ऑटोमेटिक बंद नहीं हो गई। बंद होने के बाद मशीन को जब अन्य मजदूर जनरेटर के पास गए तो देखें साल उसके पंखे में लिपटा करके पूरा मुंडी मशीन में फंसा हुआ था। क्रेशर प्लांट मालिक के द्वारा सभी साक्ष्यों को छुपाया जा रहा है और घटना का समय घटना का तरीका गलत बता करके भरमाया जा रहा है। कहीं ऐसा तो नहीं मजदूर की मौत के पीछे कोई और गुत्थी हो जिस पर लोग ध्यान ना दे रहे हो घटना के बाद जमा हुए सैकड़ों ग्रामीणों ने जब प्लांट का घेराव किया तो प्लांट मालिक के द्वारा मृतक के परिजनों को 3.5 लाख मुआवजा देने की बात भी की गई। आखिर सच्चाई कुछ भी हो दूध का दूध पानी का पानी होना चाहिए। गोलमोल जवाब से खदान मालिक पुलिस और स्थानीय लोगों को भरमा तो रहे हैं किन्तु सच्चाई छुप नही सकती। आए दिन घटना घटने के बावजूद भी खनन विभाग मुख दर्शक बना हुआ है। किसी भी मजदूर के पास कोई भी सेफ्टी किट या सेफ्टी अक्वामेंट नहीं है ऐसे में आए दिन हो रहे घटना खदानों में यह आम बात हो गई है। ऐसे मामलों में पुलिस भी खनन विभाग के प्रतिक्रिया का इंतजार करती है। किंतु खनन विभाग के अधिकारी मामलों को ऊपर ही ऊपर रफा-दफा कर देते हैं। स्थानीय लोगों की माने तो जितने भी क्रेशर कटर प्लांट और खदाने हैं इनका लाभ बाहरी ठीकेदार बाहरी पत्थर व्यवसाई ही लेते हैं। जो काम मजदूर अपने हाथों से करते थे वह काम मशीनों से हो रहे हैं जिसके चलते रोज ऐसे घटती घटना आम बात हो गयी है।

livehindustansamachar.com
 
समान समाचार  
livehindustansamachar.com
     
यस बैंक के संस्थापक गिरफ्तार , कोर्ट ने 11 मार्च तक ईडी की हिरासत में भेजा

सपना पाठक @ मुंबई
यस बैंक के संस्थापक राणा कपूर को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने 20 घंटे पूछताछ के बाद रविवार तड़के गिरफ्तार कर लिया। ईडी ने राणा कपूर को आज मुंबई के पीएमएलए कोर्ट में पेश किया। जहां से कोर्ट ने

read more..

यस बैंक के संस्थापक गिरफ्तार , कोर्ट ने 11 मार्च तक ईडी की हिरासत में भेजा

नलजल योजना :1 करोड़ 89 लाख के नहीं मिले दस्ताबेज , जानकारी न देने में अमरपाटन प्रथम

भोपाल में चपरासी ने पट्टे पर दे दी 500 करोड़ की सरकारी जमीन, मिली उम्रकैद

गढ़ पंचायत सचिव निलंबित एफआईआर दर्ज कराने सीईओ ने दिए निर्देश

आयुष्मान भारत योजना :171 अस्पताल पैनल से बाहर,4.5 करोड़ का जुर्माना

पुलिस अफसरों के परिजन उठा रहे हैं सरकारी गाड़ी और ड्राइवर का लुत्फ

पटवारी की कॉलर पकड़कर घसीटते हुए तहसील कार्यालय के भीतर ले गया युवक

सिटी स्टेशन के नजदिक निर्माणाधीन पुल का पार्ट गिरा,बाल बाल बचा बुलट सवार

सीबीआई करेगी यमुना एक्सप्रेसवे घोटाले की जांच, पूर्व सीईओ समेत 21 के खिलाफ मामला दर्ज

2 करोड़ के प्रोजेक्ट में 8 करोड़ खर्च, काम पड़ा है अधूरा

वात्सल्य बिल्डर ग्रुप सहित तीन पर 500 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी का केस दर्ज

बैंक घोटाला : पंजाब एंड महाराष्ट्र कोऑपरेटिव बैंक के पूर्व निदेशक गिरफ्तार

राजेंद्र शुक्ल को ननि आयुक्त रीवा ने भेजा 5 करोड़ की वसूली का नोटिस

प्रसूताओं के लिए मुसीबत बनी नर्स, नजराना नहीं तो मैहर से सतना रेफर !

रोजगार मुहैया कराए जाने के तमाम दावे फेल ,ग्राम पंचायतों में श्रमिकों को काम नहीं

7000 फर्जी बैंक खाते खोलकर हड़प लिया 10 करोड़ रुपये से ज्यादा का वजीफा

मिड डे मील में नमक रोटी : DM बोले-जांच में ABSA और DC MDM भी दोषी

मिड डे मील : नमक-रोटी परोसने का मामलाः बीएसए को कारण बताओ नोटिस

बिना अनुमति संपत्ति स्वामी के नाम बदलने वाले दो ऑपरेटरों की सेवाएं समाप्त

सड़क सुरक्षा के मानकों की अनदेखी से हाइवे पर घटित हो रहें हैं हादसे !

कृषक समृद्धि घोटाला: होना था मुकदमा, मिल गई क्लीन चिट

कोटेदारों की कमाई पर ई-पॉस मशीन का बट्टा,11,456 फर्जी राशनकार्ड निरस्त

छत्‍तीसगढ़ में करोड़ों का पोषण फिर भी पांच लाख बच्चों में कुपोषण

आजादी के बाद से बुनियादी सुविधाओं से महरूम है तेलियानी गाँव

यूपी में एक लाख हेक्टेयर से ज्यादा वन भूमि पर नेता, अफसर और दबंग काबिज

पोंजी घोटाला: मंसूर खान को प्रवर्तन निदेशालय ने दिल्ली एयरपोर्ट में गिरफ्तार

स्मारक घोटाला : पूर्व आईएएस अफसर समेत 39 पर चलेगा केस, सरकार ने अभियोजन की स्वीकृति

अति प्राचीन घोड़ादेवी मंदिर पर कब्जे की साजिश, प्रशासन मौन

100 करोड़ के विज्ञापन घोटाले में रेलवे अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज

प्रधानमंत्री आवास योजना में जोन-4 में हितग्राहियों का फर्जीवाड़ा

voice news
हमारे रिपोर्टर  
 
 
View All हमारे रिपोर्टर
पंचांग-पुराण   
आमलकी एकादशी : व्रत से मिलता है सुख और होती है मोक्ष की प्राप्ति
HOLI 2020: गर्लफ्रेंड या पत्नी का पसंदीदा कलर बताता है उनकी खूबियां
HOLI 2020: हर रंग कुछ कहता है, जानिए रंगों का जीवन में कैसा है महत्व
HOLI 2020: होलिका दहन की लपटों से मिलते हैं भविष्य के संकेत !
महर्षि वेदव्यास और अप्सरा घृताची से हुआ शुक्राचार्य का जन्म
live tv
livehindustansamachar.com
livehindustansamachar.com
livehindustansamachar.com
livehindustansamachar.com
 
पंचांग-पुराण   
राशिफल अंक राशि
शुभ पंचांग कुम्भ [ महाकुम्भ ]
आस्था प्रवचन
हस्तरेखा वास्तु
रत्न फेंग शुई
कुंडली विशेष दिवस
सुविचार व्रत -उपवास
प्रेरक प्रसंग
 
लाइव अपडेट  
लाइव हिंदुस्तान समाचार
 
समाचार चैनल  
स्थानीय खेल
स्वास्थ्य बिज़नेस
अपराध जीवन शैली
शिक्षा सम्पादकीय
अंतर्राष्ट्रीय सोशल मीडिया
जॉब मनोरंजन
न्यायालय आपदा
अनुसंधान निर्वाचन
कार्यक्रम टेक्नोलॉजी
रिपोर्ट कॉन्फ्रेंस
सदन प्रशासन
 
Submit Your News
 
 
 | होम  | रिपोर्ट  | आपदा  | सोशल मीडिया  | शिक्षा  | स्वास्थ्य  | अंतर्राष्ट्रीय  | निर्वाचन  | कार्यक्रम  | कॉन्फ्रेंस  | प्रशासन  | अपराध  | मनोरंजन  | न्यायालय  | स्थानीय  | टेक्नोलॉजी  | अनुसंधान  | सदन  | बिज़नेस  | जीवन शैली  | सम्पादकीय  | जॉब  | खेल  | दिल्ली  | छत्तीसगढ़  | बिहार  | सिक्किम  | दादरा और नगर हवेली  | नगालैंड  | मिजोरम  | गोवा  | हिमाचल प्रदेश  | केरल  | पश्चिम बंगाल  | कर्नाटक  | मणिपुर  | अरुणाचल प्रदेश  | हरियाणा  | असम  | उड़ीसा  | उत्तरांचल  | जम्मू और कश्मीर  | झारखंड  | चंडीगढ़  | मध्य प्रदेश  | आंध्र प्रदेश  | पंजाब  | तमिलनाडु  | गुजरात  | मेघालय  | उत्तर प्रदेश  | त्रिपुरा  | लक्ष्यदीप  | पांडिचेरी  | राजस्थान  | तेलंगाना  | महाराष्ट्र  | अंडमान एवं निकोबार  | दमन और दीव  | नियम एवं शर्तें  | गोपनीयता नीति  | विज्ञापन हमारे साथ  | हमसे संपर्क करें
 
livehindustansamachar.com Copyrights 2016-2017. All rights reserved. Design & Development By MakSoft
 
Hit Counter