Monday 14th of October 2019
खोज

 
livehindustansamachar.com
समाचार विवरण  
 किसी मित्र को मेल पन्ना छापो   साझा यह समाचार मूल्यांकन करें      
Save This Listing     Stumble It          
 5 वर्षों में स्वास्थ्य विभाग रीवा में साढ़े 3 लाख प्रसवों का पता नहीं (Mon, Mar 25th 2019 / 08:06:37)

 


रीवा ब्यूरो
संभाग में पिछले 5 वर्षों में करीब साढ़े तीन लाख प्रसव लापता हो गए हैं। यानी सरकारी और निजी स्वास्थ्य केंद्रों में गर्भवती महिलाओं का रजिस्ट्रेशन तो हुआ, लेकिन बाद में इनकी डिलेवरी कहां हुई, हुई भी या गर्भपात करवा दिया गया, यह किसी को नहीं पता। यह आंकड़ा इसलिए और गंभीर हो गया है क्योंकि संभाग में लिंगानुपात भी लगातार गिर है। महालेखा नियंत्रक परीक्षक (कैग) ने भी इसे अवैध गर्भपात की तरह गंभीर मानते हुए कहा है कि यह लापता प्रसव घटते लिंगानुपात की वजह हो सकते हैं। चौकाने वाला यह खुलासा शासन के पास भेजे गए आकड़ों से हुआ है।
शासन के पास भेजी गई रिपोर्ट में हुआ सनसनीखेज खुलासा
उल्लेखनीय है कि स्वास्थ्य विभाग महिला के गर्भवती से लेकर उसके डिलेवरी होने के बाद तक ट्रेकिंग करता है। इसके लिए उनका आरएमएनसीएच ट्रेकिंग डिवाईस में रजिस्ट्रेशन कराया जाता है। रजिस्ट्रेशन के बाद लगातार महिला की निगरानी स्वास्थ्य विभाग करता है। बाद में हर वर्ष इसकी रिपोर्ट तैयार की जाती है और उसकी समीक्षा की जाती है।
इस समीक्षा में रीवा संभाग का हैरान करने वाला आकड़ा प्राप्त हुआ है। शासन के अनुसार संभाग में पिछले 5 वर्षों में 9 लाख 55 हजार 925 गर्भवती महिलाओं का रजिस्ट्रेशन हुआ था। जिसमें से 6 लाख 15 हजार 610 का प्रसव हुआ, जबकि 3 लाख 40  हजार 315 प्रसव लापता हो गए। इन प्रसव का किसी के पास हिसाब नहीं है कि आखिर ये गये कहां।
पांच वर्ष तक होती है ट्रेकिंग
आरएमएनसीएच ट्रेकिंग डिवाइस में रजिस्ट्रेशन होने के बाद स्वास्थ्य महकमा उसकी लगातार निगरानी करता है। निगरानी महिला के गर्भवति होने से लेकर उसके डिलेवरी तक चलती है। इसके बाद जब प्रसव हो जाता है कि उस बच्चें की पांच वर्ष की आयु तक ट्रेकिंग की जाती है। जिससे लिंगानुपात समेत मातृ-शिशु जन्म मृत्यु दर का भी पता लगाया जाता है।
गर्भपात मानी जा रही वजह
इतनी संख्या  में प्रसव लापता होने के पीछे गर्भपात को सबसे बड़ी वजह माना जा रहा है। इसके अलावा निजी नर्सिंग होम द्वारा पोर्टल में जानकारी अपलोड भी नहीं की जा रही है। जिससे ट्रेकिंग में समस्या आ रही है। हालांकि गर्भपात रोकने के लिए सरकार ने पीसीपीएनडीटी एक्ट जैसे कड़े प्रावधान बना रखा है, बावजूद इसके जिले समेत पूरे प्रदेश में जोरों से गर्भपात कराया जा रहा है।
रजिस्ट्रेशन के बाद भी आंकड़ा नहीं 
रजिस्ट्रेशन कराने के बाद कई बार महिलाएं डिलेवरी के लिए अन्य प्रदेश चली जाती है, जिसके चलते उनकी ट्रेसिंग नहीं हो पाती है। इसके अलावा ट्रेकिंग सिस्टम करीब 3 वर्ष पूर्व शुरू हुआ है, इसके पहले गर्भवती महिलाओं को ट्रेस कर पाना असंभव था। वहीं निजी नर्सिंग होमों के द्वारा भी समय पर जानकारी उपलब्ध नहीं कराई जाती, जिससे आकड़ा सही नहीं मिल पाता।
डॉ. एसके सालम, क्षेत्रीय संचालक स्वास्थ्य सेवाएं

livehindustansamachar.com
 
समान समाचार  
livehindustansamachar.com
     
रीवा की 9 लाख महिलाएं एनीमिक, केन्द्र सरकार की रिपोर्ट ने चौंकाया

चन्द्रिका प्रसाद तिवारी
केन्द्र सरकार की रिपोर्ट ने चौंका दिया है। रीवा की 70 फीसदी यानि 12 लाख में से 9 लाख महिलाएं और किशोरी एनीमिक है। इन महिलाओं में रक्त अल्पता की शिकायत है। एनीमिक महिलाओं को स्ट्रांग

read more..

रीवा की 9 लाख महिलाएं एनीमिक, केन्द्र सरकार की रिपोर्ट ने चौंकाया

चिकित्सालय परिसर में ही फेंक देते हैं मेडिकल वेस्ट ,बीमारिया फैलने का खतरा

डीन की कुर्सी से रिटायर होंगे डॉ. द्विवेदी, डॉ. एपीएस सम्हालेंगे चार्ज

जेडी हेल्थ ने सीएस रहते रिश्तेदारों को बांट दी थी दुकानें, कलेक्टर की जांच लापता

50 हजार में मनपसंद अस्पताल की पोस्टिंग बिकी, 84 स्टाफ नर्सों ने चुकाई कीमत

पतंजलि योगपीठ के महामंत्री आचार्य बालकृष्ण की तबीयत बिगड़ी, एम्स में भर्ती

रीवा में 10 अगस्त को 16636 व्यक्तियों को खिलाई गई मलेरिया ऑफ-200 दवा

गांवों में खोजे जाएंगे ब्लड प्रेशर, मधुमेह, कैंसर के रोगी ,मिलेगा नि:शुल्क उपचार

उन्नाव कांड : पीड़िता को हुआ निमोनिया, हालत नाजुक, वकील की हालत में सुधार

उन्नाव कांड: वेंटिलेटर हटाते ही बिगड़ी पीड़िता की हालत, मेडिकल बोर्ड ने दी दिल्ली एयरलिफ्ट की सहमति

सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव की अचानक तबीयत खराब, डॉक्टरों ने की जांच

एम्स अध्यक्षों को मिले मंत्री स्तर के अधिकार, मरीजों के हित में ले सकेंगे फैसले

अपर स्वास्थ्य निदेशक ने अस्पताल परिसर में गंदगी देख चिकित्सकों को फटकारा

दिल्ली और पंजाब की दवाइयां सबसे अधिक गड़बड़, सरकार की नजर !

दस्तक अभियान में 44,085 गाँव में 53,54,398 बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण

संचारी रोगों को लेकर मीरगंज सीएचसी पर विभागों की समन्वय बैठक में चर्चा

दुनिया में तीसरा केस : डाक्टरों ने आंत के टुकड़े से बनाया किशोरी का निजी अंग

अबार्शन के खेल में बुरा फंसा अग्रवाल नर्सिंग होम, ऐसा हुआ स्टिंग

स्ट्रेचर नहीं मिला तो मरीज को घसीटकर एक्स-रे कराने ले गया अस्पताल कर्मी

ओडिशा में अस्पताल में टिकटॉक वीडियो बनाने वाली नर्सों को छुट्टी पर भेजा

एसआरएन में छेड़खानी का मामला, पुलिस ने दर्ज किया स्टाफ नर्स का बयान

स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही की भेंट चढ़ी प्रतापगढ़ में आयुष्मान भारत योजना

मप्र के सरकारी अस्पतालों में सुबह 9 से 4 बजे तक OPD में मिलेगा इलाज

तकनीक : बगैर ऑपरेशन बदला जा सकता है दिल का खराब वॉल्व

31 जून तक हमीदिया में सिर्फ आधे डॉक्टर मिलेंगे, मरीजों को होगी परेशानी

जाँच में 50 दवा गुणवत्तारहित ,20 दवाओं के सैंपल फेल,बिक्री रोकने के आदेश

सीएमओ ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों का किया निरीक्षण, लगाई फटकार

कलेक्टर ने जिला चिकित्सालय में बच्चों को पिलाई पोलियो की दवा

कमिश्नर डॉ. भार्गव ने किया संजय गांधी स्मृति चिकित्सालय का औचक निरीक्षण

पल्स पोलियो अभियान मानवीय कल्याण का अनुष्ठान है : कमिश्नर डॉ. भार्गव

voice news
हमारे रिपोर्टर  
 
 
View All हमारे रिपोर्टर
पंचांग-पुराण   
शारदीय नवरात्र 2019 : उज्जैन में कलेक्टर ने लगाया माता को मदिरा का भोग
नवरात्रि में नौ कन्या का महत्व : नवरात्रि में कन्या और देवी पूजन एक समान
''नम: शिवाय'' शिव पंचाक्षरी मंत्र के जाप से हो जाता है असाध्य रोगों का नाश
बकरीद के चांद के हुए दीदार, 12 अगस्त को मनेगी ईद उल अजहा
भगवान शिव के मंदिर में हुआ चमत्कार, नंदी और गणेश की प्रतिमा पीने लगी दूध
live tv
livehindustansamachar.com
livehindustansamachar.com
livehindustansamachar.com
livehindustansamachar.com
 
पंचांग-पुराण   
राशिफल अंक राशि
शुभ पंचांग कुम्भ [ महाकुम्भ ]
आस्था प्रवचन
हस्तरेखा वास्तु
रत्न फेंग शुई
कुंडली विशेष दिवस
सुविचार व्रत -उपवास
प्रेरक प्रसंग
 
लाइव अपडेट  
लाइव हिंदुस्तान समाचार अधिक जानकारी के लिए संपर्क करे : 9425330281,9893112422
 
समाचार चैनल  
स्थानीय खेल
स्वास्थ्य बिज़नेस
अपराध जीवन शैली
शिक्षा सम्पादकीय
अंतर्राष्ट्रीय सोशल मीडिया
जॉब मनोरंजन
न्यायालय आपदा
अनुसंधान निर्वाचन
कार्यक्रम टेक्नोलॉजी
रिपोर्ट कॉन्फ्रेंस
सदन प्रशासन
 
Submit Your News
 
 
 | होम  | स्थानीय  | कॉन्फ्रेंस  | मनोरंजन  | अनुसंधान  | अपराध  | आपदा  | खेल  | स्वास्थ्य  | प्रशासन  | टेक्नोलॉजी  | जीवन शैली  | निर्वाचन  | अंतर्राष्ट्रीय  | बिज़नेस  | शिक्षा  | सदन  | न्यायालय  | कार्यक्रम  | रिपोर्ट  | सोशल मीडिया  | सम्पादकीय  | जॉब  | चंडीगढ़  | गुजरात  | उड़ीसा  | मणिपुर  | सिक्किम  | दमन और दीव  | हिमाचल प्रदेश  | असम  | महाराष्ट्र  | गोवा  | बिहार  | मध्य प्रदेश  | दिल्ली  | राजस्थान  | दादरा और नगर हवेली  | तमिलनाडु  | नगालैंड  | छत्तीसगढ़  | केरल  | त्रिपुरा  | आंध्र प्रदेश  | जम्मू और कश्मीर  | हरियाणा  | पश्चिम बंगाल  | अंडमान एवं निकोबार  | झारखंड  | अरुणाचल प्रदेश  | तेलंगाना  | मेघालय  | पंजाब  | उत्तरांचल  | उत्तर प्रदेश  | मिजोरम  | कर्नाटक  | पांडिचेरी  | लक्ष्यदीप  | नियम एवं शर्तें  | गोपनीयता नीति  | विज्ञापन हमारे साथ  | हमसे संपर्क करें
 
livehindustansamachar.com Copyrights 2016-2017. All rights reserved. Design & Development By MakSoft
 
Hit Counter