Wednesday 19th of June 2019
खोज

 
livehindustansamachar.com
समाचार विवरण  
 किसी मित्र को मेल पन्ना छापो   साझा यह समाचार मूल्यांकन करें      
Save This Listing     Stumble It          
 जम्मू-कश्मीर में परिसीमन की सुगबुगाहट, गृह मंत्री की राज्यपाल से चर्चा (Tue, Jun 4th 2019 / 22:35:10)

 


चन्द्रिका प्रसाद तिवारी
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह कार्यभार संभालने के बाद से ही ‘मिशन कश्मीर’ मोड में नजर आ रहे हैं। मंगलवार सुबह शुरू हुआ शाह की बैठकों का सिलसिला लंबा चला। इनमें जम्मू-कश्मीर में परिसीमन की तैयारियों से लेकर अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा पर लंबी चर्चाएं हुई। बैठक के बाद उन्होंने प्रदेश राज्यपाल सतपाल मलिक से फोन पर बात की। बताया जा रहा है कि बैठक में शाह ने गृह सचिव राजीव गौबा और कश्मीर मामलों के अतिरिक्त सचिव ज्ञानेश कुमार के साथ परिसीमन आयोग के गठन संबंधी फैसले लिए।
अधिकारियों ने कहा कि हालांकि बैठक में परिसीमन आयोग गठित करने पर कोई चर्चा नहीं हुई। प्रदेश भाजपा द्वारा परिसीमन की मांग के बीच, अधिकारियों ने कहा कि केन्द्र की नई सरकार विधानसभा क्षेत्रों के परिसीमन और अनुसूचित जातियों के लिए आरक्षित सीटों की संख्या तय करने के लिए परिसीमन आयोग का गठन कर सकती है।
जम्मू कश्मीर को अन्य राज्यों के बराबर ले जाते हुए, 2002 में तत्कालीन फारूक अब्दुल्ला सरकार ने राज्य संविधान में संशोधन करते हुए 2026 तक परिसीमन आयोग पर रोक लगाई थी। उनके बेटे और पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने मंगलवार को ट्वीट किया कि परिसीमन पर रोक 2026 तक पूरे देश में लागू है और इसके विपरीत कुछ गलत जानकारी वाले टीवी चैनल इस पर भ्रम पैदा कर रहे हैं, यह केवल जम्मू कश्मीर के संबंध में रोक नहीं है।
सूत्रों के मुताबिक, केंद्र सरकार विधानसभा चुनाव से पहले राज्य में परिसीमन करना चाहती है और इसकी तैयारी अंतिम चरण में है। सरकार जम्मू में प्रतिनिधित्व की असमानता दूर करने के लिए इस दिशा में शीघ्र कदम बढ़ना चाहती है। इस मसले पर गृह मंत्रालय और राज्यपाल एक-दूसरे के संपर्क में हैं। पिछले हफ्ते शनिवार को प्रदेश के राज्यपाल राज्यपाल मलिक ने शाह को कानून व्यवस्था और जमीनी हालात की जानकारी दी थी।
1995 में हुआ था परिसीमन
रियासत में आखिरी बार 1995 में परिसीमन हुआ था, जबकि राज्य के संविधान के मुताबिक हर 10 साल के बाद विधानसभा क्षेत्रों का परिसीमन किया जाना चाहिए। परिसीमन की जम्मू में लंबे समय से मांग चल रही है। यहां की पार्टियां कश्मीर में अधिक सीटें होने से नाराज हैं। इनका मानना है कि जम्मू को उसका हक नहीं मिला है। यहां विधानसभा की सीटें अधिक होनी चाहिए।
सूबे में आखिरी बार 1995 में परिसीमन किया गया था, जब राज्यपाल जगमोहन के आदेश पर 87 सीटों का गठन किया गया। विधानसभा में कुल 111 सीटें हैं, लेकिन 24 सीटों को रिक्त रखा गया है। संविधान के सेक्शन 47 के मुताबिक इन 24 सीटों को पाक अधिकृत कश्मीर के लिए खाली छोड़ गया है। शेष 87 सीटों पर चुनाव होता है।
राज्य के संविधान के मुताबिक हर 10 साल के बाद निर्वाचन क्षेत्रों का परिसीमन किया जाना चाहिए। यानी यहां सीटों का परिसीमन 2005 में किया जाना था, लेकिन फारूक अब्दुल्ला सरकार ने 2002 में इस पर 2026 तक के लिए रोक लगा दी थी। अब्दुल्ला सरकार ने जम्मू-कश्मीर जनप्रतिनिधित्व कानून 1957 और जम्मू-कश्मीर के संविधान में बदलाव करते हुए यह फैसला लिया था।
2011 की जनगणना
2011 की जनगणना के मुताबिक जम्मू संभाग की आबादी 5378538 है, जो राज्य की 42.89 फीसदी आबादी है। जम्मू संभाग 26200 वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है यानी राज्य का 25.93 फीसदी क्षेत्र फल जम्मू संभाग के अंतर्गत आता है। यहां विधानसभा की कुल 37 सीटें हैं। कश्मीर  की आबादी 6888475 है, जो राज्य की आबादी का 54.93 फीसदी हिस्सा है। कश्मीर संभाग का क्षेत्रफल राज्य के क्षेत्रफल 15900 वर्ग किलोमीटर है, जो 15.73 प्रतिशत है। यहां से कुल 46 विधायक चुने जाते हैं। राज्य के 58.33 फीसदी क्षेत्रफ ल वाले लद्दाख संभाग में चार विधानसभा सीटें हैं।
सूत्रों के मुताबिक केंद्र सरकार यहां इसलिए परिसीमन पर जोर दे रही है ताकि एससी और एसटी समुदाय के लिए सीटों के आरक्षण की नई व्यवस्था लागू की जा सके। घाटी की किसी भी सीट पर आरक्षण नहीं है, लेकिन यहां 11 फीसदी गुज्जर-बक्करवाल और गद्दी जनजाति समुदाय के लोगों की आबादी है। जम्मू संभाग में सात सीटें एससी के लिए आरक्षित हैं, जिनका रोटेशन नहीं हुआ है। ऐसे में नए सिरे से परिसीमन से सामाजिक समीकरणों पर प्रभाव पड़ने की संभावना है।
संसद में बिल लाना होगा
यदि केंद्र सरकार ने परिसीमन आयोग का गठन किया तो इसके लिए संसद में बिल लाना होगा। चूंकि, राज्य में राष्ट्रपति शासन है। इस वजह से इसे राज्य के संविधान के अनुसार यहां से मंजूरी मिल जाएगी। इसलिए लोगों को संसद सत्र का इंतजार है।
राजनीतिक असंतुलन होगा खत्म
राजनीतिक पार्टियों का मानना है कि नए सिरे से परिसीमन होने से राज्य में राजनीतिक असंतुलन खत्म होगा। कश्मीर का सत्ता में वर्चस्व समाप्त हो जाएगा। कश्मीर में 349 वर्ग किलोमीटर क्षेत्रफल पर एक विधानसभा है, जबकि जम्मू में 710 वर्ग किलोमीटर पर। परिसीमन के लिए पांच चीजों को आधार बनाया जाता है जिसमें क्षेत्रफल, जनसंख्या, क्षेत्र की प्रकृति, कम्युनिकेशन सुविधा तथा इससे मिलता-जुलता अन्य कारण। पार्टियों का मानना है कि क्षेत्रफल अधिक होने के साथ ही क्षेत्र की भौगोलिक स्थिति भी विषम है। कम्युनिकेशन सुविधाओं का अभाव है। ऐसे में सभी परिस्थितियां जम्मू संभाग के हक में हैं।
अमरनाथ सुरक्षा का लिया जायजा
उधर, जल्द शुरू होने वाली अमरनाथ को लेकर भी गृह मंत्री शाह ने चर्चा की। मंगलवार को अमरनाथ यात्रा के सुरक्षा इंतजामों को लेकर उन्होंने गृह सचिव गाबा, जम्मू कश्मीर डिवीजन के एडिशनल सेक्रेटरी और खुफिया विभाग के अधिकारियों के साथ मुलाकात की। शनिवार को राज्यपाल मलिक से भी शाह ने यात्रा की सुरक्षा को लेकर बातचीत की थी।
2002 में लगी थी रोक
सभी परिस्थितियों के अनुसार जम्मू संभाग का हिस्सा अधिक बनता है। हमें हमारा हक चाहिए। इसके लिए पार्टी लगातार आवाज बुलंद करती रही है। 2002 में जब फारूक सरकार ने परिसीमन पर रोक लगाई थी तब भी विधानसभा में विरोध किया गया था।
हर्षदेव सिंह, चेयरमैन-पैंथर्स पार्टी

livehindustansamachar.com
 
समान समाचार  
livehindustansamachar.com
     
भाजपा और तृणमूल के पोस्टकार्ड जंग में सरकार को करोडो रुपये का नुकसान

नई दिल्ली ब्यूरो
भाजपा और तृणमूल कांग्रेस के बीच पोस्टकार्ड जंग छिड़ी हुई है। भाजपा जहां तृणमूल प्रमुख ममता बनर्जी को ‘जय श्रीराम’ लिखे 10 लाख पोस्टकार्ड भेज रही है तो वहीं तृणमूल भाजपा नेताओं को ‘जय बांग्ला, जय काल

read more..

भाजपा और तृणमूल के पोस्टकार्ड जंग में सरकार को करोडो रुपये का नुकसान

बंगालियों और गैर बंगालियों के बीच खाई पैदा करने की कोशिश में BJP : ममता

PM के साथ 57 अन्य मंत्रियों ने ली शपथ, 21 नए चेहरे मंत्रिमंडल में शामिल

CM कमलनाथ का चोरहटा हवाई पट्टी पर जन प्रतिनिधियों ने की अगवानी

जांच के लिए कौन सी एजेंसी सक्षम है, यह तय करने की जिम्मेदारी निर्वाचन आयोग की नहीं

मोदी की सांसदों को नसीहत- बड़बोलेपन से बचें, इससे हमारी परेशानी बढ़ती है

ममता ने की इस्तीफे की पेशकश, कहा- मैं मुख्यमंत्री नहीं बनी रहना चाहती

महागठबंधन बनाने वाले अपना घर भी नहीं बचा सके : CM योगी आदित्यनाथ

EVM की विश्वसनीयता पर सवाल विपक्ष की हताशा : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

एग्जिट पोल में NDA को बहुमत के बाद एमपी और कर्नाटक की सियासत गर्म

मुख्यमंत्री ममता के भतीजे अभिषेक ने पीएम मोदी को भेजा मानहानि का नोटिस

पीएमओ में जब मोदी बैठक लेते हैं तो इंटरनेट की कई सर्विस बंद कर दी जाती हैं

नई साज-सज्जा से तैयार सीएम हाउस में जून में प्रवेश करेंगे CM कमलनाथ

शुक्र है साध्‍वी प्रज्ञा ने गोडसे को देवता नहीं कहा : CM कमलनाथ

Modi की जाति पूछकर देश को कमजोर करने की साजिश रच रहा है विपक्ष !

दामाद पर शिकंजा कसा इसलिए रमन सिंह फड़फड़ा रहे हैं : CM भूपेश

BJP में अभिनेता आगे हो गए और पार्टी नेता पीछे चले गए : CM भूपेश बघेल

1100 आईएएस अफसरों के सर्विस रिकॉर्ड की समीक्षा, चार की छुट्टी

PM मोदी की सुरक्षा में चूक, फ्लीट गुजरने से आधा घंटा पहले रास्ते में घुसा बदमाश

आप देश को बचाना चाहते हैं तो भाजपा को वोट न दें : ममता बनर्जी

छत्तीसगढ़ CM भूपेश बघेल का मोदी पर निशाना, बहुरुपिया है प्रधानमंत्री

योगी पर लगे प्रतिबंध की मियाद पूरी, संभल, फिरोजाबाद, इटावा व मिश्रिख में करेंगे सभा

अयोध्या में दर्शन-पूजन करेंगे CM , चुनाव प्रचार की योगी पर 72 घंटे की रोक !

हिमाचल सरकार में ऊर्जा मंत्री अनिल शर्मा ने दिया मंत्री पद से इस्तीफा

IPS अधिकारियों के तबादले पर बिफरीं ममता, चुनाव आयोग को लिखा पत्र

ममता का पीएम पर वार,कहा-मोदी दोबारा जीते तो देश में कभी नहीं होंगे चुनाव

आयुष्मान भारत के 187 करोड़ रुपये का ममता सरकार से मांगा हिसाब

मध्‍यप्रदेश में इंदौर मॉडल लागू होगा : मंत्री जयवर्धन सिंह

नगरीय निकायों के कर्मचारियों का मध्य प्रदेश सरकार ने रोका वेतन का पैसा

पायलट लौटा कर पाकिस्तान ने कोई एहसान नहीं किया : सीतारमण

voice news
हमारे रिपोर्टर  
 
 
View All हमारे रिपोर्टर
पंचांग-पुराण   
रोहिणी नक्षत्र में 25 मई से 3 जून तक रहेगा नौतपा, सूरज के तेवर होंगे प्रचंड
दारुल उलूम का एलान, नहीं दिखा रमजान का चांद,मंगलवार को पहला रोजा
बहुत चमत्कारी है हनुमान चालीसा, उपायों से पूरी होती है मनोकामना
Hanuman Jayanti: हनुमान चालीसा का पाठ करने से होता है संकटों का नाश
Chaitra Navratri : अष्टमी-नवमी तिथि और जानें पूजा-पारण का शुभ मुहूर्त
live tv
livehindustansamachar.com
livehindustansamachar.com
 
पंचांग-पुराण   
राशिफल अंक राशि
शुभ पंचांग कुम्भ [ महाकुम्भ ]
आस्था प्रवचन
हस्तरेखा वास्तु
रत्न फेंग शुई
कुंडली विशेष दिवस
सुविचार व्रत -उपवास
प्रेरक प्रसंग
 
लाइव अपडेट  

Head office
[Editorial &Contact for news, business, complaints and suggestions]
Sirmaur, District - Rewa [MP]
Livehindustansamachar@gmail.com
Mob: +919893112422

 
समाचार चैनल  
LOCAL NEWS POLITICS
SPORTS स्वास्थ्य
Business CRIME
व्यायाम जीवन शैली
शिक्षा String
धरोहर [ऐतिहासिक] प्रदर्शन [ विरोध ]
शासन सम्पादकीय
अंतर्राष्ट्रीय SOCIAL MEDIA
JOB मनोरंजन
न्यायालय आपदा [ घटना ]
अनुसंधान आलेख [ब्लॉग]
सम्मान [ पुरस्कार ] आयोग [ बोर्ड ]
ELECTION कार्यक्रम
TECHNOLOGY संगठन
मौसम परीक्षा [ टेस्ट ]
रिपोर्ट [ सर्वे ] इंटरव्यू
भष्ट्राचार बागवानी [ कृषि ]
E-PAPER कॉन्फ्रेंस
श्रधांजलि आम बजट
सदन [ संसदीय ] योजना
रिजल्ट [परिणाम] प्रशासन
जनरल नॉलेज [स्पेशल ]
 
Submit Your News
 
 
 | होम  | आम बजट  | व्यायाम  | बागवानी [ कृषि ]  | JOB  | जनरल नॉलेज  | SOCIAL MEDIA  | स्वास्थ्य  | कार्यक्रम  | अंतर्राष्ट्रीय  | शिक्षा  | मनोरंजन  | सम्पादकीय  | CRIME  | SPORTS  | आपदा [ घटना ]  | इंटरव्यू  | मौसम  | रिपोर्ट [ सर्वे ]  | श्रधांजलि  | String  | जीवन शैली  | परीक्षा [ टेस्ट ]  | प्रशासन  | योजना  | आयोग [ बोर्ड ]  | प्रदर्शन [ विरोध ]  | धरोहर [ऐतिहासिक]  | सम्मान [ पुरस्कार ]  | न्यायालय  | E-PAPER  | कॉन्फ्रेंस  | भष्ट्राचार  | Business  | अनुसंधान  | आलेख [ब्लॉग]  | POLITICS  | संगठन  | रिजल्ट [परिणाम]  | LOCAL NEWS  | TECHNOLOGY  | सदन [ संसदीय ]  | ELECTION  | शासन  | [स्पेशल ]  | जम्मू और कश्मीर  | मध्य प्रदेश  | चंडीगढ़  | मिजोरम  | उड़ीसा  | असम  | दिल्ली  | त्रिपुरा  | मणिपुर  | नगालैंड  | महाराष्ट्र  | तेलंगाना  | मेघालय  | हिमाचल प्रदेश  | आंध्र प्रदेश  | गोवा  | गुजरात  | राजस्थान  | दमन और दीव  | छत्तीसगढ़  | पांडिचेरी  | अंडमान एवं निकोबार  | लक्ष्यदीप  | कर्नाटक  | तमिलनाडु  | केरल  | दादरा और नगर हवेली  | अरुणाचल प्रदेश  | सिक्किम  | पंजाब  | हरियाणा  | उत्तर प्रदेश  | झारखंड  | उत्तरांचल  | बिहार  | पश्चिम बंगाल  | नियम एवं शर्तें  | गोपनीयता नीति  | विज्ञापन हमारे साथ  | हमसे संपर्क करें
 
livehindustansamachar.com Copyrights 2016-2017. All rights reserved. Designed & Developed by : livehindustansamachar.com
 
Hit Counter