Monday 14th of October 2019
खोज

 
livehindustansamachar.com
समाचार विवरण  
 किसी मित्र को मेल पन्ना छापो   साझा यह समाचार मूल्यांकन करें      
Save This Listing     Stumble It          
 यूपी में एक लाख हेक्टेयर से ज्यादा वन भूमि पर नेता, अफसर और दबंग काबिज (Mon, Jul 22nd 2019 / 09:53:19)

 


जुनैद खान @ स्टेट ब्यूरो ,सोनभद्र
सोनभद्र में एक लाख हेक्टेयर से ज्यादा वन भूमि पर अवैध रूप से नेता, अफसर और दबंग काबिज हैं। जिन अफसरों की यहां तैनाती हुई, उनमें से अधिकतर ने अपनी आने वाली कई पीढ़ियों के भरण-पोषण का इंतजाम कर दिया।
इसमें वन और राजस्व विभाग के कार्मिकों की मिलीभगत जगजाहिर है। पीढ़ियों से जमीन जोत रहे लोगों का शोषण भी किसी से छिपा नहीं है।
खास बात यह है कि पांच साल पहले वन विभाग के ही एक मुख्य वन संरक्षक एके जैन ने यह रिपोर्ट दी थी। साथ ही मामले की सीबीआई जांच की सिफारिश भी की थी, लेकिन इस रिपोर्ट के आधार पर आज तक कोई कार्रवाई नहीं हुई।
सोनभद्र में जमीन पर कब्जे को लेकर नरसंहार की बुनियाद कोई एक दिन में नहीं रखी गई। इस क्षेत्र को जानने वाले विशेषज्ञों का मानना है कि अगर समय रहते उचित कदम नहीं उठाए गए तो इस तरह की वारदातों को रोक पाना और भी मुश्किल होगा। हालांकि, इन हालात से वर्ष 2014 में ही तत्कालीन मुख्य वन संरक्षक (भू-अभिलेख एवं बंदोबस्त) एके जैन ने शासन व सरकार को अवगत करा दिया था।
जैन की रिपोर्ट के मुताबिक, सोनभद्र में जंगल की जमीन की लूट मची हुई है। अब तक एक लाख हेक्टेयर से ज्यादा जमीन अवैध रूप से बाहर से आए ‘रसूखदारों’ या उनकी संस्थाओं के नाम की जा चुकी है। यह प्रदेश की कुल वन भूमि का छह प्रतिशत हिस्सा है। जैन ने पूरे मामले से सुप्रीम कोर्ट को अवगत कराने की सिफारिश भी की थी।
रिपोर्ट के अनुसार, सोनभद्र में 1987 से लेकर अब तक एक लाख हेक्टेयर भूमि को अवैध रूप से गैर वन भूमि घोषित कर दिया गया है, जबकि भारतीय वन अधिनियम-1927 की धारा-4 के तहत यह जमीन ‘वन भूमि’ घोषित की गई थी।
सुप्रीम कोर्ट की अनुमति के बिना इसे किसी व्यक्ति या प्रोजेक्ट के लिए नहीं दिया जा सकता। इतना ही नहीं, आहिस्ता-आहिस्ता अवैध कब्जेदारों को असंक्रमणीय से संक्रमणीय भूमिधर अधिकार यानी जमीन एक-दूसरे को बेचने के अधिकार भी लगातार दिए जा रहे हैं।
इसे वन संरक्षण अधिनियम-1980 का सरासर उल्लंघन बताते हुए बताया गया कि 2009 में राज्य सरकार की ओर से उच्चतम न्यायालय में एक याचिका दायर की गई थी। इसमें कहा गया था कि सोनभद्र में गैर वन भूमि घोषित करने में वन बंदोबस्त अधिकारी (एफएसओ) ने खुद को प्राप्त अधिकारों का दुरुपयोग करके अनियमितता की।
लेकिन 19 सितंबर 2012 को तत्कालीन सचिव (वन) के मौखिक आदेश पर विभागीय वकील ने यह याचिका चुपचाप वापस ले ली। हालात का अंदाजा इससे लगा सकते हैं कि चार दशक पहले सोनभद्र के रेनूकूट इलाके में 1,75,896.490 हेक्टेयर भूमि को धारा-4 के तहत लाया गया था, लेकिन इसमें से मात्र 49,044.89 हेक्टेयर जमीन ही वन विभाग को पक्के तौर पर (धारा-20 के तहत) मिल सकी। यही हाल ओबरा व सोनभद्र वन प्रभाग और कैमूर वन्य जीव विहार क्षेत्र में है।
क्या है धारा-4 और धारा-20
भारतीय वन अधिनियम-1927 की धारा-4 के तहत सरकार किसी भूमि को वन भूमि में दर्ज करने की मंशा जाहिर करती है। इस पर आम लोगों से आपत्तियां भी मांगी जाती हैं। इन आपत्तियों की सुनवाई एसडीएम स्तर का अधिकारी करता है। सुनवाई की प्रक्रिया में उसे वन बंदोबस्त अधिकारी का दर्जा दिया जाता है।
इन आपत्तियों पर सुनवाई के बाद धारा-20 के तहत कार्यवाही होती है, जिसमें भूमि को अंतिम रूप से बतौर वन भूमि दर्ज कर लिया जाता है। आपत्तियां जायज होने पर वन बंदोबस्त अधिकारी को यह अधिकार होता है कि धारा-4 की जमीन को वादी के पक्ष में गैर वन भूमि घोषित कर दे।
जिन पर सरकारी जमीन बचाने की जिम्मेदारी, वही करवा रहे कब्जा
सोनभद्र में कानून की आड़ लेकर वन विभाग की जमीन कब्जाने का सिलसिला आज तक नहीं थमा है। इस गोरखधंधे में सरकारी कर्मचारियों, अफसरों और राजनेताओं से लेकर आम लोग तक शामिल हैं। जिन पर जंगल बचाने की जिम्मेदारी है, वे इस गैरकानूनी काम में और भी आगे हैं।
राजस्व व वन विभाग के सूत्रों के मुताबिक, रेनुकूट डिवीजन के गांव जोगेंद्रा में एक राजनेता वन विभाग की 250 बीघा जमीन पर काबिज हैं। उनके सामने सारे कानून बौने नजर आ रहे हैं।
इसी तरह सोनभद्र के गांव सिलहट में एक पूर्व विधायक ने 56 बीघा जमीन का बैनामा अपने भतीजों के नाम करा दिया। इस काम में सरकारी मुलाजिम भी पीछे नहीं हैं।
ओबरा वन प्रभाग के वर्दिया गांव में एक कानूनगो ने अपने पिता के नाम जमीन कराई और बाद में उसे बेच दिया। घोरावल रेंज के धोरिया गांव में ऐसे ही एक रसूखदार ने 18 बीघा जमीन 90 हजार रुपये में खरीदी दिखाई और इसकी आड़ में और भी जमीन कब्जा ली।
ओबरा डिवीजन के गांव वर्दिया में एक परिवार ने राजा बढ़हर का 26 मई 1952 का पट्टा दिखाकर 101 बीघा जमीन पर अपना दावा ठोक दिया। बताते हैं कि जिस तारीख का यह पट्टा है, उस दिन तक परिवार के दो सदस्य पैदा ही नहीं हुए थे, जबकि उनके नाम पट्टे में दर्ज हैं।
इतना ही नहीं, भारतीय वन अधिनियम-1927 की धारा-4 और धारा-20 में विज्ञापित जमीन को रसूखदारों के कहने पर चकबंदी में शामिल कर लिया जा रहा है, जबकि नियमानुसार ऐसा नहीं हो सकता।
उचित कार्यवाही करवाऊंगा
अभी यह रिपोर्ट मेरी जानकारी में नहीं है। अगर ऐसा है तो विभागीय अधिकारियों से बात करूंगा। मामला मुख्यमंत्री के संज्ञान में लाकर उचित कार्यवाही भी करवाऊंगा।                 
दारा सिंह चौहान, वन एवं उद्यान मंत्री , उत्तर प्रदेश

livehindustansamachar.com
 
समान समाचार  
livehindustansamachar.com
     
राजेंद्र शुक्ल को ननि आयुक्त रीवा ने भेजा 5 करोड़ की वसूली का नोटिस

लाइव हिदुस्तान समाचार
आईएचएसडीपी योजना अंतर्गत विस्थापितों को आवंटित आवास के मामले में बरती गई अनियमितता के मामले में रीवा नगर निगम आयुक्त सभाजीत यादव ने सतना के पूर्व प्रभारी मंत्री एवं भाजपा विधायक

read more..

राजेंद्र शुक्ल को ननि आयुक्त रीवा ने भेजा 5 करोड़ की वसूली का नोटिस

प्रसूताओं के लिए मुसीबत बनी नर्स, नजराना नहीं तो मैहर से सतना रेफर !

रोजगार मुहैया कराए जाने के तमाम दावे फेल ,ग्राम पंचायतों में श्रमिकों को काम नहीं

7000 फर्जी बैंक खाते खोलकर हड़प लिया 10 करोड़ रुपये से ज्यादा का वजीफा

मिड डे मील में नमक रोटी : DM बोले-जांच में ABSA और DC MDM भी दोषी

मिड डे मील : नमक-रोटी परोसने का मामलाः बीएसए को कारण बताओ नोटिस

बिना अनुमति संपत्ति स्वामी के नाम बदलने वाले दो ऑपरेटरों की सेवाएं समाप्त

सड़क सुरक्षा के मानकों की अनदेखी से हाइवे पर घटित हो रहें हैं हादसे !

कृषक समृद्धि घोटाला: होना था मुकदमा, मिल गई क्लीन चिट

कोटेदारों की कमाई पर ई-पॉस मशीन का बट्टा,11,456 फर्जी राशनकार्ड निरस्त

छत्‍तीसगढ़ में करोड़ों का पोषण फिर भी पांच लाख बच्चों में कुपोषण

आजादी के बाद से बुनियादी सुविधाओं से महरूम है तेलियानी गाँव

पोंजी घोटाला: मंसूर खान को प्रवर्तन निदेशालय ने दिल्ली एयरपोर्ट में गिरफ्तार

स्मारक घोटाला : पूर्व आईएएस अफसर समेत 39 पर चलेगा केस, सरकार ने अभियोजन की स्वीकृति

अति प्राचीन घोड़ादेवी मंदिर पर कब्जे की साजिश, प्रशासन मौन

100 करोड़ के विज्ञापन घोटाले में रेलवे अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज

प्रधानमंत्री आवास योजना में जोन-4 में हितग्राहियों का फर्जीवाड़ा

अवैध खनन मामला : हमीरपुर सहित चार स्थानों में सीबीआइ ने मारा छापा

मध्य प्रदेश में शिक्षक, SI और फौजी भी ऋणमाफी की बहती गंगा में लाभार्थी

बच्चों का पता नहीं, चाइल्ड ट्रैफिकिंग के शिकंजे में फंस गया विंध्य

शौचालय निर्माण में गड़बडिय़ों की जांच रिपोर्ट भेजने को तैयार नहीं कलेक्टर

जीवन सरल पॉलिसी के जरिए एलआईसी पर धोखाधड़ी करने का आरोप

किसान सम्मान निधि के लिए घूस लेते लेखपाल का वीडियो वायरल, निलंबित

जनपद पंचायत रीवा में आॅडिटर टीम खर्च राशि का खंगालेगी रिकार्ड

अरुणाचल के पूर्व सीएम के भाई-भाभी के खिलाफ सीबीआई ने दर्ज किया केस

पाकिस्तानी के नाम कर दी तहसीलदार ने 900 करोड़ की शत्रु संपत्ति !

3334 करोड़ के बकायेदार उद्योगपति विजय कलंत्री डिफाल्टर घोषित

फर्जी प्रमाणपत्र पर नौकरी कर रहे शिक्षक होंगे बर्खास्त : डीएम

सड़क व पुल-पुलियों के घटिया निर्माण के चलते सब इंजीनियर निलंबित

हैंडओवर होने के पहले चटक गई 22 करोड़ रुपये की लागत से तैयार अस्पताल की सीलिंग

voice news
हमारे रिपोर्टर  
 
 
View All हमारे रिपोर्टर
पंचांग-पुराण   
शारदीय नवरात्र 2019 : उज्जैन में कलेक्टर ने लगाया माता को मदिरा का भोग
नवरात्रि में नौ कन्या का महत्व : नवरात्रि में कन्या और देवी पूजन एक समान
''नम: शिवाय'' शिव पंचाक्षरी मंत्र के जाप से हो जाता है असाध्य रोगों का नाश
बकरीद के चांद के हुए दीदार, 12 अगस्त को मनेगी ईद उल अजहा
भगवान शिव के मंदिर में हुआ चमत्कार, नंदी और गणेश की प्रतिमा पीने लगी दूध
live tv
livehindustansamachar.com
livehindustansamachar.com
livehindustansamachar.com
livehindustansamachar.com
 
पंचांग-पुराण   
राशिफल अंक राशि
शुभ पंचांग कुम्भ [ महाकुम्भ ]
आस्था प्रवचन
हस्तरेखा वास्तु
रत्न फेंग शुई
कुंडली विशेष दिवस
सुविचार व्रत -उपवास
प्रेरक प्रसंग
 
लाइव अपडेट  
लाइव हिंदुस्तान समाचार अधिक जानकारी के लिए संपर्क करे : 9425330281,9893112422
 
समाचार चैनल  
स्थानीय खेल
स्वास्थ्य बिज़नेस
अपराध जीवन शैली
शिक्षा सम्पादकीय
अंतर्राष्ट्रीय सोशल मीडिया
जॉब मनोरंजन
न्यायालय आपदा
अनुसंधान निर्वाचन
कार्यक्रम टेक्नोलॉजी
रिपोर्ट कॉन्फ्रेंस
सदन प्रशासन
 
Submit Your News
 
 
 | होम  | सोशल मीडिया  | सम्पादकीय  | कॉन्फ्रेंस  | प्रशासन  | स्वास्थ्य  | अपराध  | स्थानीय  | सदन  | जीवन शैली  | कार्यक्रम  | शिक्षा  | बिज़नेस  | जॉब  | अनुसंधान  | टेक्नोलॉजी  | न्यायालय  | आपदा  | रिपोर्ट  | खेल  | अंतर्राष्ट्रीय  | निर्वाचन  | मनोरंजन  | बिहार  | तेलंगाना  | तमिलनाडु  | चंडीगढ़  | नगालैंड  | उड़ीसा  | पश्चिम बंगाल  | असम  | उत्तरांचल  | छत्तीसगढ़  | अरुणाचल प्रदेश  | गुजरात  | पांडिचेरी  | दिल्ली  | महाराष्ट्र  | दमन और दीव  | राजस्थान  | केरल  | आंध्र प्रदेश  | पंजाब  | मध्य प्रदेश  | कर्नाटक  | मणिपुर  | दादरा और नगर हवेली  | उत्तर प्रदेश  | गोवा  | मेघालय  | अंडमान एवं निकोबार  | त्रिपुरा  | हरियाणा  | लक्ष्यदीप  | झारखंड  | हिमाचल प्रदेश  | मिजोरम  | जम्मू और कश्मीर  | सिक्किम  | नियम एवं शर्तें  | गोपनीयता नीति  | विज्ञापन हमारे साथ  | हमसे संपर्क करें
 
livehindustansamachar.com Copyrights 2016-2017. All rights reserved. Design & Development By MakSoft
 
Hit Counter