Tuesday 18th of February 2020
खोज

 
livehindustansamachar.com
समाचार विवरण  
 किसी मित्र को मेल पन्ना छापो   साझा यह समाचार मूल्यांकन करें      
Save This Listing     Stumble It          
 देश में प्रेस की स्वतंत्रता वनवे ट्रैफिक नहीं हो सकती : सुप्रीम कोर्ट (Wed, Aug 28th 2019 / 07:43:29)

 


लाइव हिंदुस्तान समाचार
सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को न्यूज पोर्टल द वायर की याचिका पर सुनवाई करते हुए देश में प्रेस की स्वतंत्रता को लेकर एक तीखी और कठोर टिप्पणी की। शीर्ष अदालत ने कहा, प्रेस की स्वतंत्रता सर्वोच्च है, लेकिन यह वनवे ट्रैफिक जैसी नहीं हो सकती। पीत पत्रकारिता को कोई जगह नहीं मिलनी चाहिए। सुप्रीम कोर्ट की पीठ ने यह तीखी टिप्पणी तब की, जब वह न्यूज पोर्टल की तरफ से अपनी याचिका वापस लेने के लिए लगाई गई गुहार पर सुनवाई कर रही थी।
न्यूज पोर्टल ने गृह मंत्री अमित शाह के बेटे जय शाह की तरफ से दाखिल मानहानि मामले में गुजरात हाईकोर्ट की तरफ से मुकदमा चलाने के लिए दिए गए आदेश के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाई थी, जो करीब डेढ़ वर्ष से लंबित पड़ी थी। शीर्ष अदालत ने इस याचिका को वापस लेने की इजाजत न्यूज पोर्टल को दे दी। जय शाह ने यह अवमानना याचिका न्यूज पोर्टल में लिखे गए एक लेख के खिलाफ दाखिल की थी। शीर्ष अदालत ने निचली अदालत को भी न्यूज पोर्टल के खिलाफ अवमानना मुकदमे को जल्द से जल्द पूरा करने के निर्देश दिए।
जस्टिस अरुण मिश्रा की अध्यक्षता वाली पीठ के सामने न्यूज पोर्टल की तरफ से वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने याचिका वापस लेने की गुहार लगाई। उन्होंने कहा कि उनके वादी गुजरात की अदालत में ट्रायल झेलना चाहते हैं। सुनवाई के दौरान पीठ ने देश में पत्रकारिता के वर्तमान चलन को लेकर बेहद नाराजगी जताई, जिससे हालिया दिनों में न्यायपालिका भी बेहद प्रभावित रही है। पीठ ने कहा कि यह फैशन बन गया है कि किसी भी व्यक्ति से जवाब मांगने के लिए नोटिस जारी किया जाए और 5-6 घंटे में ही उसके जवाब देने से पहले कोई भी लेख प्रकाशित कर दिया जाए। पीठ ने कहा, हमने बहुत कुछ झेला है। यह किस प्रकार की पत्रकारिता है। यह एक गंभीर मुद्दा है। हमें इस मुद्दे पर स्वत: संज्ञान लेकर कार्रवाई क्यों नहीं करनी चाहिए? हम इस अदालत के जज के तौर पर बेहद चिंतित हैं। पीठ ने कहा कि उचित वक्त पर इस मसले पर विचार किया जाएगा।
टिप्पणी को लेकर हुई तीखी बहस
जस्टिस मिश्रा के अतिरिक्त जस्टिस एमआर शाह और जस्टिस बीआर गावई की मौजूदगी वाली पीठ की टिप्पणी के कारण सुनवाई के दौरान दोनों पक्षों के बीच तीखी बहस भी हुई। पीठ ने कहा कि हम देश को बहुत कुछ कहना चाहते हैं, लेकिन हम कहेंगे नहीं, क्योंकि केस को वापस ले लिया गया है।
इस पर सिब्बल ने कहा कि वह भी कुछ कहना चाहते हैं, लेकिन वह भी नहीं कहेंगे। सिब्बल ने पीठ की तरफ से की गई टिप्पणियों पर आपत्ति जताई। सिब्बल ने कहा कि उनके मुवक्किल निचली अदालत में मुुकदमे का सामना करना चाहते हैं, लेकिन सुप्रीम कोर्ट की तरफ से अपने आदेश में की गई ऐसी टिप्पणियां उनके मामले को ट्रायल के दौरान प्रभावित कर सकती हैं। इस पर पीठ ने अपने आदेश में कहा कि सुनवाई के दौरान की गई टिप्पणियों से ट्रायल के दौरान मामला प्रभावित नहीं होगा।

 
समान समाचार  
livehindustansamachar.com
     
प्लास्टिक मानव जीवन के विकास में सबसे बड़ी बाधा जिला एवं सत्र न्यायाधीश

रीवा ब्यूरो
मानव जीवन को उन्नतशील बनाने के लिए स्वच्छता अभियान और पर्यावरण के विकास का जनजागृति अभियान प्रारंभ किया गया है। मनगवां तहसील में न्यायालय के नवनिर्मित भवन के प्रांगण में प्लास्टिक हटाओ, पर्यावरण बचाओ के अभ

read more..

प्लास्टिक मानव जीवन के विकास में सबसे बड़ी बाधा जिला एवं सत्र न्यायाधीश

पासपोर्ट में लिंग परिवर्तन के सवाल पर मद्रास हाईकोर्ट ने केंद्र से मांगा जवाब

सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, RTI कानून के दायरे में होगा CJI का दफ्तर

अयोध्या फैसले के लिए SC के जजों ने की CJI गोगोई की जमकर तारीफ

जस्टिस एसए बोबडे बोले, अयोध्या पर फैसले का मुझे और सभी को इंतजार

अयोध्या मामला : कोर्टरूम ड्रामा, मुस्लिम पक्ष के वकील ने फाड़ा नक्शा

वीआरएस कंप्लीट पैकेज, इससे ज्यादा लाभ की मांग बेमानी : सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट ने एससी-एसटी कानून हल्का करने संबंधी पुराना फैसला लिया वापस

रिश्वत लेने वाले गुना के तत्कालीन जिला विपणन अधिकारी को चार साल की सजा

जो न्याय तक नहीं पहुंच पाये उन्हें राज्य कानूनी सहायता देगा : विशेष न्यायाधीश

फर्जी खबरों से हो रहे नुकसान की जिम्मेदारी से बच नहीं सकतीं सोशल मीडिया !

आरक्षित और अनारक्षित वर्ग के लिए अलग साक्षात्कार गैरकानूनी: सुप्रीम कोर्ट

नाबालिग से दुष्कर्म करने वाले को न्यायालय ने सुनाई 14 साल की सश्रम सजा

ED केस में चिदंबरम को राहत, सिब्बल का हाईकोर्ट पर गंभीर आरोप !

शिकायतकर्ता की गैरहाजिरी में खारिज नहीं होगा मुकदमा : इलाहाबाद हाईकोर्ट

अदालतों में बढ़ रहे अमर्यादित आचरण के मामले, सुनिश्चित हो न्यायपालिका की गरिमा : सीजेआई

दुष्कर्म पीड़िताओं की मांग, अंगुलियों से परीक्षण पर डॉक्टरों का लाइसेंस हो रद्द

क्या UN भारत के संविधान संशोधन पर रोक लगा सकता है ? : सुप्रीम कोर्ट

जे&के में व्यभिचार को अपराध बताने वाला कानून असांविधानिक : सुप्रीम कोर्ट

हाई कोर्ट की फुल बेंच ने शिक्षाकर्मियों को हेड मास्टर बनाने पर स्टे रखा यथावत

दिल्ली हाईकोर्ट ने दिल्ली पुलिस से पूछा, एफआईआर में उर्दू-फारसी शब्द क्यों ?

सुप्रीम कोर्ट में बढ़ाई जाएगी जजों की संख्या, विधेयक को संसद से मिली मंजूरी

सुप्रीम कोर्ट का फैसला- चाहे पद खाली रह जाएं, पूरी मेरिट नहीं तो भर्ती नहीं

अयोध्या भूमि विवाद : 33 दिनों में फैसला सुना सकता है सुप्रीम कोर्ट !

उन्नाव दुष्कर्म कांड : देश में जो हो रहा है परेशान करने वाला है : सुप्रीम कोर्ट

राजा सिर्फ नाम के,यह ऐसी ''गद्दी'’ है जिसका न कोई साम्राज्य है न प्रजा : कोर्ट

मध्यप्रदेश में 5 साल की बच्ची से दुष्कर्म और हत्या के दोषी को फांसी की सजा

अदालत ने माना, नाबालिग की सहमति से संबंध बनाना भी अपराध ही है

मप्र की जेलों में बंदियों का नियमित रूप से मेडिकल चेकअप किया जाए: हाईकोर्ट

चुनाव याचिका में बदनावर विधायक दत्तीगांव को इंदौर हाईकोर्ट का नोटिस

voice news
हमारे रिपोर्टर  
 
 
View All हमारे रिपोर्टर
पंचांग-पुराण   
महर्षि वेदव्यास और अप्सरा घृताची से हुआ शुक्राचार्य का जन्म
शारदीय नवरात्र 2019 : उज्जैन में कलेक्टर ने लगाया माता को मदिरा का भोग
नवरात्रि में नौ कन्या का महत्व : नवरात्रि में कन्या और देवी पूजन एक समान
''नम: शिवाय'' शिव पंचाक्षरी मंत्र के जाप से हो जाता है असाध्य रोगों का नाश
बकरीद के चांद के हुए दीदार, 12 अगस्त को मनेगी ईद उल अजहा
live tv
livehindustansamachar.com
livehindustansamachar.com
livehindustansamachar.com
livehindustansamachar.com
livehindustansamachar.com
 
पंचांग-पुराण   
राशिफल अंक राशि
शुभ पंचांग कुम्भ [ महाकुम्भ ]
आस्था प्रवचन
हस्तरेखा वास्तु
रत्न फेंग शुई
कुंडली विशेष दिवस
सुविचार व्रत -उपवास
प्रेरक प्रसंग
 
लाइव अपडेट  
लाइव हिंदुस्तान समाचार
 
समाचार चैनल  
स्थानीय खेल
स्वास्थ्य बिज़नेस
अपराध जीवन शैली
शिक्षा सम्पादकीय
अंतर्राष्ट्रीय सोशल मीडिया
जॉब मनोरंजन
न्यायालय आपदा
अनुसंधान निर्वाचन
कार्यक्रम टेक्नोलॉजी
रिपोर्ट कॉन्फ्रेंस
सदन प्रशासन
 
Submit Your News
 
 
 | होम  | खेल  | शिक्षा  | स्थानीय  | कार्यक्रम  | अंतर्राष्ट्रीय  | कॉन्फ्रेंस  | अपराध  | मनोरंजन  | जीवन शैली  | अनुसंधान  | सदन  | टेक्नोलॉजी  | निर्वाचन  | सम्पादकीय  | स्वास्थ्य  | आपदा  | जॉब  | सोशल मीडिया  | प्रशासन  | बिज़नेस  | रिपोर्ट  | न्यायालय  | सिक्किम  | छत्तीसगढ़  | पंजाब  | केरल  | उत्तर प्रदेश  | कर्नाटक  | हिमाचल प्रदेश  | दिल्ली  | लक्ष्यदीप  | अरुणाचल प्रदेश  | बिहार  | तेलंगाना  | उत्तरांचल  | मेघालय  | मणिपुर  | मध्य प्रदेश  | चंडीगढ़  | गोवा  | अंडमान एवं निकोबार  | महाराष्ट्र  | तमिलनाडु  | पश्चिम बंगाल  | जम्मू और कश्मीर  | हरियाणा  | दमन और दीव  | उड़ीसा  | त्रिपुरा  | दादरा और नगर हवेली  | झारखंड  | पांडिचेरी  | राजस्थान  | नगालैंड  | मिजोरम  | असम  | आंध्र प्रदेश  | गुजरात  | नियम एवं शर्तें  | गोपनीयता नीति  | विज्ञापन हमारे साथ  | हमसे संपर्क करें
 
livehindustansamachar.com Copyrights 2016-2017. All rights reserved. Design & Development By MakSoft
 
Hit Counter