Friday 14th of August 2020
खोज

 
livehindustansamachar.com
समाचार विवरण  
 किसी मित्र को मेल पन्ना छापो   साझा यह समाचार मूल्यांकन करें      
Save This Listing     Stumble It          
 महाराष्ट्र में लगा राष्ट्रपति शासन, जानें इन राज्यों में कब-कब लगा राष्ट्रपति शासन (Tue, Nov 12th 2019 / 20:45:55)

 


चन्द्रिका प्रसाद तिवारी
महाराष्ट्र में आखिरकार आखिरकार मंगलवार को राष्ट्रपति शासन लागू हो गया। राज्य के  विकट राजनीतिक हालात को देखते हुए राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने राष्ट्रपति से इसकी सिफारिश की थी, जिसे राष्ट्रपति ने स्वीकार कर लिया। वहीं केंद्रीय मंत्रिमंडल ने भी इसकी मंजूरी दे दी। बता दें कि भारत के अलग-अलग राज्यों में अब तक करीब 125 बार राष्ट्रपति शासन लग चुका है। जबकि महाराष्ट्र में अब से पहले तक दो बार ही राष्ट्रपति शासन लागू हुआ था।
गृह मंत्रालय के प्रवक्ता ने भी इस संबंध में कहा कि महाराष्ट्र के राज्यपाल का विचार था कि चुनाव नतीजे आने के 15 दिन बाद भी कोई दल सरकार बनाने की स्थिति में नहीं है, इसलिए राष्ट्रपति शासन ही सबसे सही विकल्प है।
जानें, महाराष्ट्र में कब-कब लगा राष्ट्रपति शासन
महाराष्ट्र में मंगलवार 12 नवंबर 2019 से पहले तक दो बार राष्ट्रपति शासन लग चुका है। अब यह तीसरी बार लागू किया गया है। इसके तहत प्रदेश के राज्यपाल ही राज्य का प्रशासन चलाने के लिए राष्ट्रपति की कार्यकारी शक्तियों का प्रयोग करने का अधिकारी होंगे।
पहली बार: महाराष्ट्र में पहली बार 17 फरवरी 1980 को लागू हुआ था। उस वक्त शरद पवार मुख्यमंत्री थे। उनके पास बहुमत था, हालांकि राजनीतिक हालात बिगड़ने पर विधानसभा भंग कर दी गई थी। ऐसे में 17 फरवरी से आठ जून 1980 तक करीब 112 दिन तक राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू रहा था।
दूसरी बार: इसी तरह 28 सितंबर 2014 को भी महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाया गया था। उस वक्त राज्य की सत्तारूढ़ पार्टी कांग्रेस थी। कांग्रेस अपने सहयोगी दल राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) सहित अन्य दलों के साथ अलग हो गई थी और विधानसभा भंग कर दी गई थी। ऐसे में 28 सितंबर 2014 से लेकर 30 अक्तूबर यानि 32 दिनों तक राज्य में दूसरी बार राष्ट्रपति शासन लागू रहा।
क्या है राष्ट्रपति शासन, कैसे होता है लागू
राष्ट्रपति शासन का अर्थ है, किसी राज्य का नियंत्रण भारत के राष्ट्रपति के पास चला जाना। लेकिन प्रशासनिक दृष्टि से केंद्र सरकार इसके लिए राज्य के राज्यपाल को कार्यकारी अधिकार प्रदान करती है। संविधान के अनुच्छेद 352, 356 और 365 में राष्ट्रपति शासन से जुड़े प्रावधान दिए गए हैं।
अनुच्छेद 356 के अनुसार राष्ट्रपति किसी भी राज्य में राष्ट्रपति शासन लगा सकते हैं यदि वे इस बात से संतुष्ट हों कि राज्य सरकार संविधान के मुताबिक काम नहीं कर रही है। अनुच्छेद 365 अनुसार राज्य सरकार केंद्र सरकार द्वारा दिए गए संवैधानिक निर्देशों का पालन नहीं करती तो उस हालात में भी राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाया जा सकता है।
अनुच्छेद 352 के तहत आर्थिक आपातकाल की स्थिति में राष्ट्रपति शासन लगाया जा सकता है।
महाराष्ट्र में क्यों नहीं बनी सरकार
गौरतलब है कि राज्य में हुए हाल के विधानसभा चुनाव में भाजपा सहित किसी भी दल को स्पष्ठ बहुमत नहीं मिला था। भाजपा 105 सीटें हासिल कर सबसे बड़ा दल जरूर थी। जबकि शिवसेना को 56 सीटें मिली थीं। वहीं भाजपा और शिवसेना ने मिलकर 50:50 के फॉर्मूले पर गठबंधन किया था।
चुनाव परिणाम आने के बाद जब शिवसेना ढाई साल मुख्यमंत्री बनाने की जिद पर अड़ गई तो राजनीतिक हालात बिगड़ते चले गए। इसके बाद शिवसेना ने एनसीपी और कांग्रेस के समर्थन से भी सरकार बनाने की संभावना तलाशी, लेकिन इसमें भी सफलता नहीं मिली।
ऐसे टूटा 30 साल पुराना भाजपा-शिवसेना का गठबंधन
महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए भाजपा ने शिवसेना को गृहमंत्री सहित कैबिनेट में समान संख्या में मंत्री पद देने की पेशकश की थी। लेकिन शिवसेना मुख्यमंत्री पद के लिए अड़ी रही। यहां तक कि शिवसेना के एकमात्र सांसद और केंद्र सरकार के मंत्रिमंडल में शामिल अरविंद सावंत ने सोमवार को इस्तीफा तक दे दिया।
इसके साथ ही राज्य में भाजपा के साथ चला आ रहा 30 साल पुराना गठबंधन भी टूट गया। वहीं दूसरी ओर शिवसेना ने शरद पवार के नेतृत्व वाली एनसीपी और कांग्रेस के समर्थन से राज्य में सरकार बनाने का फैसला किया थे, परंतु इसमें भी विफल रही।
जानें इन राज्यों में कब-कब लगा राष्ट्रपति शासन
आंध्र प्रदेश- तीन बार
15 नवंबर 1954 (लागू होने की तिथि), 18 जनवरी 1973, 28 फरवरी, 2014
अरुणाचल प्रदेश- दो बार
तीन नवंबर 1979, 25 जनवरी 2016
असम- चार बार
12 दिसंबर 1979, 30 जून 1981, 19 मार्च 1982, 28 नवंबर 1990
बिहार- आठ बार
29 जून 1968, चार जुलाई 1969, नौ जनवरी 1972, 30 अप्रैल 1977, 17 फरवरी 1980, 28 मार्च 1995, 12 फरवरी 1999, सात मार्च 2005
दिल्ली- एक बार
14 फरवरी, 2014
गोवा- पांच बार
दो दिसंबर 1966, 27 अप्रैल 1979, 14 दिसंबर 1990, नौ फरवरी 1999, चार मार्च 2005
गुजरात- पांच बार
12 मई 1971, नौ फरवरी 1974, 12 मार्च 1976, 17 फरवरी 1980, 19 सितंबर 1996
हरियाणा- तीन बार
दो नवंबर 1967, 30 अप्रैल 1977, छह अप्रैल 1991
हिमाचल प्रदेश- दो बार
30 अप्रैल 1977, 15 दिसंबर 1992
झारखंड- तीन बार
19 जनवरी 2009, एक जून 2010, 18 जनवरी 20013
कर्नाटक- छह बार
19 मार्च 1971 (मैसूर नाम से), 31 दिसंबर 1977, 21 अप्रैल 1989, 10 अक्तूबर 1990, नौ अक्तूबर 2007, 20 नवंबर 2007
केरल- पांच बार
23 मार्च 1956 (त्रावणकोर नाम से), 31 जुलाई 1959, 10 सितंबर 1964, एक अगस्त 1970, एक दिसंबर 1979
मध्यप्रदेश- चार बार
आठ अप्रैल 1949 (विंध्य प्रदेश के नाम), 29 अप्रैल 1977, 18 फरवरी 1980, 15 दिसंबर 1992
महाराष्ट्र- दो बार
17 फरवरी 1980, 28 सितंबर 2014
मणिपुर- दस बार
12 जनवरी 1967, 25 अक्तूबर 1967, 17 अक्तूबर 1969, 28 मार्च 1973, 16 मई 1977, 14 नवंबर 1979, 28 फरवरी 1981, सात जनवरी 1992, 31 दिसंबर 1993, दो जून 2001
मेघालय- दो बार
11 अक्तूबर 1991, 18 मार्च 2009
मिजोरम- तीन बार
11 मई 1977, 10 नवंबर 1978, सात सितंबर 1988
नगालैंड- चार बार
20 मार्च 1975, सात अगस्त 1988, दो अप्रैल 1992, तीन जनवरी 2008
इन राज्यों में भी लगा राष्ट्रपति शासन
ओडिशा- छह बार
25 फरवरी 1961, 11 जनवरी 1971, तीन मार्च 1973, 16 दिसंबर 1976, 30 अप्रैल 1977, 17 फरवरी 1980
पंजाब- नौ बार
20 जून 1951, पांच मार्च 1953 (पेप्सू नाम से), पांच जुलाई 1966, 23 अगस्त 1968, 14 जून 1971, 30 अप्रैल 1971, 17 फरवरी 1980, 10 अक्तूबर 1983, 11 जून 1987
पुडुचेरी (पांडिचेरी)- छह बार
18 सितंबर 1968, तीन जनवरी 1974, 28 मार्च 1974, 12 नवंबर 1978, 24 जून 1983, चार मार्च 1991
राजस्थान- चार बार
13 मार्च 1967, 29 अप्रैल 1977, 16 फरवरी 1980, 15 दिसंबर 1992
सिक्किम- दो बार
18 अगस्त 1978, 25 मई 1984
तमिलनाडु- चार बार
31 जनवरी 1976, 17 फरवरी 1980, 30 जनवरी 1988, 30 जनवरी 1991
त्रिपुरा- तीन बार
एक नवंबर 1971, पांच नवंबर 1977, 11 मार्च 1993
उत्तर प्रदेश- नौ बार
25 फरवरी 1968, एक अक्तूबर 1970, 13 जून 1973, 30 नवंबर 1975, 30 अप्रैल 1977, 17 फरवरी 1980, छह दिसंबर 1992, 18 अक्तूबर 1995, आठ मार्च 2002
पश्चिम बंगाल- चार बार
एक जुलाई 1962, 20 फरवरी 1968, 19 मार्च 1970, 28 जून 1971
उत्तराखंड- दो बार
27 मार्च 2016, 22 अप्रैल 2016
जम्मू-कश्मीर की स्थिति अलग थी
जम्मू-कश्मीर में अबतक राज्यपाल शासन लागू होता था। जो कि यहां सात बार लगाया जा चुका है। हालांकि अब इसके केंद्रशासित प्रदेश बन जाने के बाद यहां भी राष्ट्रपति शासन लागू होगा।
जम्मू-कश्मीर- सात बार
26 मार्च 1977, 6 मार्च 1986, 19 जनवरी 1990, 18 अक्तूबर 2002, 11 जुलाई 2008, नौ जनवरी 2015, आठ जनवरी 2016

livehindustansamachar.com
 
समान समाचार  
livehindustansamachar.com
     
दूसरों के साथ अच्छा करोगे तो.. आपके साथ भी अच्छा होगा ..!

लाइव हिंदुस्तान समाचार & सिरमौर
दिल को छू लेने वाला मार्मिक व प्रेरक वाक्या लेखक के निजी विचारो व भावनात्मक तथ्यों पर आधारित है | जो हमें सिखाता है की इंसान को असहाय व जरूरतमंद की सेवा न

read more..

दूसरों के साथ अच्छा करोगे तो.. आपके साथ भी अच्छा होगा ..!

पुलिस बिना वारंट के असंज्ञेय अपराध में गिरफ्तार नहीं कर सकती !

इतिहास: दादा ने बनवाई बाबरी मस्जिद, तो पोते ने चलवाया श्रीराम का सिक्का

बेहद लचीला है भारतीय संविधान, 70 साल में हुए 103 संशोधन

अंग्रेजी शासन की स्थापना के साथ ही शुरू हुआ था संवैधानिक विकास

कितना जानते हैं आप अपने देश के बारे में ?

1906 में फहराया गया था पहला तिरंगा, राष्ट्र ध्वज के रूप में लहराएगा छठा स्वरुप

आइंसटाइन से लेकर स्वामी जी तक...महान विचारकों की राय में महान है भारत

voice news
हमारे रिपोर्टर  
 
 
View All हमारे रिपोर्टर
पंचांग-पुराण   
हनुमान होते तो नहीं होता श्रीराम का स्वर्गारोहण, इसलिए किया था ऐसा उपाय
जानिए ,रक्षाबंधन की तिथि, वार, शुभ मुहूर्त, पूजा विधि सहित कथा !
व्यक्ति की राशि पर भी निर्भर करता है तो उसे कैसे जीवनसाथी मिलेगा
मोक्षदायिनी और पुण्यफल देने वाली देवशयनी एकादशी की पूजाविधि और शुभ मुहूर्त
कांवड़ यात्रा की अनुमति देने से झारखंड सरकार ने किया इन्कार
live tv
livehindustansamachar.com
livehindustansamachar.com
livehindustansamachar.com
livehindustansamachar.com
livehindustansamachar.com
 
पंचांग-पुराण   
राशिफल अंक राशि
शुभ पंचांग कुम्भ [ महाकुम्भ ]
आस्था प्रवचन
हस्तरेखा वास्तु
रत्न फेंग शुई
कुंडली विशेष दिवस
सुविचार व्रत -उपवास
प्रेरक प्रसंग
 
लाइव अपडेट  
लाइव हिंदुस्तान समाचार फेसबुक ,ट्वविटर ,इंस्ट्राग्राम , लिंक्डइन से जुड़ने के लिए फॉलो करे या विजिट करे : www.livehindustansamachar.com
 
समाचार चैनल  
स्थानीय राजनीति
खेल COVID-19
बिज़नेस अपराध
जीवन-शैली शिक्षा
राष्ट्रीय सम्पादकीय
अंतर्राष्ट्रीय सोशल मीडिया
कैरियर मनोरंजन
न्यायालय आपदा
अनुसंधान ब्लॉग
निर्वाचन मौसम
भष्ट्राचार कृषि
HEALTH शासन
योजना प्रशासन
कविता/कहानी लाइव हिंदुस्तान समाचार [विशेष]
 
Submit Your News
 
 
 | होम  | प्रशासन  | शिक्षा  |  कृषि  | बिज़नेस  | योजना  | लाइव हिंदुस्तान समाचार [विशेष]  | शासन  | ब्लॉग  | जीवन-शैली  | अंतर्राष्ट्रीय  | अपराध  | COVID-19  | राजनीति  | मौसम  | सम्पादकीय  | भष्ट्राचार  | आपदा  | कैरियर  | निर्वाचन  | न्यायालय  | सोशल मीडिया  | स्थानीय  | राष्ट्रीय  | अनुसंधान  | कविता/कहानी  | मनोरंजन  | HEALTH  | खेल  | केरल  | दिल्ली  | बिहार  | झारखंड  | त्रिपुरा  | उड़ीसा  | अंडमान एवं निकोबार  | हिमाचल प्रदेश  | उत्तर प्रदेश  | दमन और दीव  | सिक्किम  | पश्चिम बंगाल  | आंध्र प्रदेश  | पांडिचेरी  | कर्नाटक  | लक्ष्यदीप  | असम  | मध्य प्रदेश  | मिजोरम  | दादरा और नगर हवेली  | हरियाणा  | नगालैंड  | मणिपुर  | तेलंगाना  | छत्तीसगढ़  | गोवा  | गुजरात  | जम्मू और कश्मीर  | तमिलनाडु  | मेघालय  | उत्तरांचल  | राजस्थान  | अरुणाचल प्रदेश  | चंडीगढ़  | पंजाब  | महाराष्ट्र  | लद्दाख  | नियम एवं शर्तें  | गोपनीयता नीति  | विज्ञापन हमारे साथ  | हमसे संपर्क करें
 
livehindustansamachar.com Copyrights 2016-2017. All rights reserved. Design & Development By MakSoft
 
Hit Counter