Sunday 12th of July 2020
खोज

 
livehindustansamachar.com
समाचार विवरण  
 किसी मित्र को मेल पन्ना छापो   साझा यह समाचार मूल्यांकन करें      
Save This Listing     Stumble It          
 सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, RTI कानून के दायरे में होगा CJI का दफ्तर (Wed, Nov 13th 2019 / 19:26:45)

 


चन्द्रिका प्रसाद तिवारी
भारत के मुख्य न्यायाधीश का दफ्तर भी सूचना के अधिकार कानून (आरटीआई) के दायरे में आ गया है। सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को ऐतिहासिक फैसले में कहा कि मुख्य न्यायाधीश (सीजीआई) का दफ्तर सार्वजनिक कार्यालय है, इसलिए यह आरटीआई के दायरे में आएगा।
चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय संविधान पीठ ने दिल्ली हाई कोर्ट के 2010 के निर्णय को सही ठहराते हुए इसके खिलाफ हाई कोर्ट के सेक्रेटरी जनरल और शीर्ष अदालत के केंद्रीय सार्वजनिक सूचना अधिकारी की अपील खारिज कर दी।
संविधान पीठ ने आगाह किया कि सूचना के अधिकार कानून का इस्तेमाल निगरानी रखने के हथियार के रूप में नहीं किया जा सकता है और पारदर्शिता के मुद्दे पर विचार करते समय न्यायपालिका की स्वतंत्रता को ध्यान में रखना चाहिए। यह निर्णय सुनाने वाली संविधान पीठ के बाकी सदस्यों में न्यायमूर्ति एन वी रमण, न्यायमूर्ति धनन्जय वाई चन्द्रचूड़, न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता और न्यायमूति संजीव खन्ना शामिल थे।
संविधान पीठ ने कहा कि कॉलेजियम द्वारा न्यायाधीश पद पर नियुक्ति के लिए की गई सिफारिश में सिर्फ न्यायाधीशों के नामों की जानकारी दी जा सकती है लेकिन इसके कारणों की नहीं। प्रधान न्यायाधीश, न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता और न्यायमूर्ति संजीव खन्ना ने एक फैसला लिखा जबकि न्यायमूर्ति एन वी रमण और न्यायमूर्ति धनन्जय वाई चन्द्रचूड़ ने अलग निर्णय लिखे।
न्यायालय ने कहा कि निजता का अधिकार एक महत्वपूर्ण पहलू है और प्रधान न्यायाधीश के कार्यालय से जानकारी देने के बारे में निर्णय लेते समय इसमें और पारदर्शिता के बीच संतुलन कायम करना होगा। न्यायमूर्ति खन्ना ने कहा कि न्यायिक स्वतंत्रता और पारदर्शिता को साथ-साथ चलना है। न्यायमूर्ति रमण ने न्यायमूर्ति खन्ना से सहमति व्यक्त करते हुए कहा कि निजता के अधिकार और पारदर्शिता के अधिकार और न्यायपालिका की स्वतंत्रता के बीच संतुलन के फार्मूले को उल्लंघन से संरक्षण प्रदान करना चाहिए।
क्या कहा था दिल्ली हाईकोर्ट ने ?
दिल्ली हाईकोर्ट ने अपने फैसले में कहा था कि सीजेआई का दफ्तर एक सार्वजनिक प्राधिकरण है और इसे सूचना के अधिकार कानून के अंतर्गत लाया जाना चाहिए। पीठ ने इस साल अप्रैल में इस याचिका पर फैसला सुरक्षित रख लिया था।
सीजेआई रंजन गोगोई ने पहले यह कहा था कि पारदर्शिता के नाम पर एक संस्था को नुकसान नहीं पहुंचाया जाना चाहिए। नवंबर 2007 में आरटीआई कार्यकर्ता सुभाष चंद्र अग्रवाल ने आरटीआई याचिका दाखिल कर सुप्रीम कोर्ट से जजों की संपत्ति के बारे में जानकारी मांगी थी जो उन्हें देने से इनकार कर दिया गया।
अग्रवाल इसके बाद सीआईसी के पास पहुंचे और सीआईसी ने सुप्रीम कोर्ट से इस आधार पर सूचना देने को कहा कि सीजेआई का दफ्तर भी कानून के अंतर्गत आता है। इसके बाद जनवरी 2009 में सीआईसी के आदेश को दिल्ली हाईकोर्ट में चुनौती दी गई हालांकि वहां भी सीजेआई के आदेश को कायम रखा गया।

livehindustansamachar.com
 
समान समाचार  
livehindustansamachar.com
     
PM केयर्स फंड मामला : केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में दायर किया हलफनामा

नई दिल्ली ब्यूरो
केंद्र सरकार ने उच्चत्तम न्यायालय में पीएम केयर्स फंड मामले में हलफनामा दायर किया है। केंद्र सरकार द्वारा दायर हलफनामे में कहा गया है, 'राष्ट्रीय और राज्यों के आपदा प्रतिक्रिया कोष जैस

read more..

PM केयर्स फंड मामला : केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में दायर किया हलफनामा

महाराष्ट्र की लोनार झील की हालत बेहद खराब और दयनीय: बॉम्बे हाईकोर्ट

ऑनलाइन विशेष लोक अदालत: 27 लाख 88 हजार रूपये का अवार्ड पारित

शराब पर प्रतिबंध लगाने की मांग को लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिका

सीजेएम कोर्ट में राहुल गांधी और जाकिर हुसैन पर राजद्रोह का वाद दर्ज

ऑनलाइन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से 4 जुलाई को विशेष लोक अदालत

2500 तब्लीगी जमातियो के वीजा पर रुख स्पष्ट करे सरकार : सुप्रीम कोर्ट

महिला सिंदूर और चूड़ी नहीं पहनती मतलब शादी स्वीकार नहीं : हाईकोर्ट

राजस्थान बोर्ड 10वीं की शेष परीक्षाओं को रद्द करने की याचिका खारिज

शिक्षण शुल्क के अलावा अन्य मद में फीस नहीं वसूल सकते निजी स्कूल

वकील बिस्तर पर लेटे हुए डिजिटल सुनवाई में टी-शर्ट में हुआ पेश ,उच्चतम न्यायालय ने जताई नाराजगी ,कहा -पेश होने योग्य’ नजर आने चाहिए वकील

मध्यप्रदेश हाई कोर्ट व अधीनस्थ अदालतों में 27 जून तक बढ़ा लॉकडाउन

डॉक्टर-कर्मचारियों को वेतन देने के लिए निर्देश पारित करे केंद्र :सुप्रीम कोर्ट

देश में कोरोना की स्थिति बेहतर नहीं बदतर होती जा रही है : जस्टिस

सुप्रीम कोर्ट का केंद्र सरकार की जारी अधिसूचना को खारिज करने से इंकार

Full Salary देने का मामला : सुप्रीम कोर्ट ने कहा -कंपनियां और कर्मचारी आपस में सुलझा ले या श्रम मंत्रालय की मदद ले |

12वीं की बाकी परीक्षाओं पर रोक लगाने की मांग, छात्रों ने दी सुप्रीम कोर्ट में याचिका

हरियाणा में अदालतों की भाषा हिंदी करने में दखल नहीं देगी सुप्रीम कोर्ट

संविधान से इंडिया शब्द हटाकर भारत करने की मांग, SC में याचिका !

विधिक साक्षरता शिविर का उदेश्य निर्धन लोगों में न्यायालय के प्रति बसे हुए डर को हटाना : अपर सत्र न्यायाधीश

दंगाइयों को सजा मिले, लेकिन उनके पोस्टर लगाने का कानून नहीं : सुप्रीम कोर्ट

निर्भया केस : 20 मार्च का डेथ वारंट, सुप्रीम कोर्ट में 23 मार्च को सुनवाई !

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट ने कहा, कहीं भी विरोध प्रदर्शन की नहीं दे सकते अनुमति

लोक अदालत में बीमा प्रकरणों के निराकरण के लिए पीठासीन अधिकारी तैनात

महिला ने 40 साल किया संघर्ष , HC ने सरकार पर लगाया 50 हजार जुर्माना

महिला जानती है कि कोई पुरुष उसे किस नीयत से छू रहा है : बॉम्बे हाईकोर्ट

विधिक साक्षरता एवं सेवा शिविर में बोले न्यायाधीश- सेवा से बड़ा कोई धर्म नहीं

भड़काऊ भाषण : कोर्ट ने केंद्र, दिल्ली सरकार और पुलिस से मांगा जवाब

प्लास्टिक मानव जीवन के विकास में सबसे बड़ी बाधा जिला एवं सत्र न्यायाधीश

पासपोर्ट में लिंग परिवर्तन के सवाल पर मद्रास हाईकोर्ट ने केंद्र से मांगा जवाब

voice news
हमारे रिपोर्टर  
 
 
View All हमारे रिपोर्टर
पंचांग-पुराण   
मोक्षदायिनी और पुण्यफल देने वाली देवशयनी एकादशी की पूजाविधि और शुभ मुहूर्त
कांवड़ यात्रा की अनुमति देने से झारखंड सरकार ने किया इन्कार
30 दिन के अंतर में 3 ग्रहणों का संयोग ,खुशियां लेकर आ रहा है सूर्य ग्रहण
Nirjala Ekadashi : सभी व्रत, उपवासों में निर्जला एकादशी सर्वश्रेष्ठ
आमलकी एकादशी : व्रत से मिलता है सुख और होती है मोक्ष की प्राप्ति
live tv
livehindustansamachar.com
livehindustansamachar.com
livehindustansamachar.com
livehindustansamachar.com
livehindustansamachar.com
 
पंचांग-पुराण   
राशिफल अंक राशि
शुभ पंचांग कुम्भ [ महाकुम्भ ]
आस्था प्रवचन
हस्तरेखा वास्तु
रत्न फेंग शुई
कुंडली विशेष दिवस
सुविचार व्रत -उपवास
प्रेरक प्रसंग
 
लाइव अपडेट  
लाइव हिंदुस्तान समाचार
 
समाचार चैनल  
स्थानीय राजनीति
खेल COVID-19
बिज़नेस अपराध
व्यायाम जीवन शैली
शिक्षा कार्यक्रम
राष्ट्रीय सम्पादकीय
अंतर्राष्ट्रीय सोशल मीडिया
कैरियर मनोरंजन
न्यायालय आपदा
अनुसंधान ब्लॉग
पुरस्कार निर्वाचन
टेक्नोलॉजी मौसम
रिपोर्ट भष्ट्राचार
कॉन्फ्रेंस सदन
योजना रिजल्ट
प्रशासन लाइव हिंदुस्तान समाचार
 
Submit Your News
 
 
 | होम  | राष्ट्रीय  | अंतर्राष्ट्रीय  | निर्वाचन  | कार्यक्रम  | कैरियर  | जीवन शैली  | सदन  | पुरस्कार  | मौसम  | राजनीति  | COVID-19  | सोशल मीडिया  | भष्ट्राचार  | आपदा  | रिपोर्ट  | खेल  | अपराध  | बिज़नेस  | शिक्षा  | सम्पादकीय  | न्यायालय  | प्रशासन  | अनुसंधान  | योजना  | टेक्नोलॉजी  | रिजल्ट  | स्थानीय  | ब्लॉग  | लाइव हिंदुस्तान समाचार  | मनोरंजन  | कॉन्फ्रेंस  | व्यायाम  | दिल्ली  | जम्मू और कश्मीर  | कर्नाटक  | त्रिपुरा  | लक्ष्यदीप  | राजस्थान  | पांडिचेरी  | बिहार  | चंडीगढ़  | तेलंगाना  | पश्चिम बंगाल  | महाराष्ट्र  | झारखंड  | असम  | उड़ीसा  | गोवा  | हरियाणा  | सिक्किम  | गुजरात  | लद्दाख  | अंडमान एवं निकोबार  | मध्य प्रदेश  | मेघालय  | मणिपुर  | हिमाचल प्रदेश  | केरल  | पंजाब  | अरुणाचल प्रदेश  | नगालैंड  | उत्तर प्रदेश  | आंध्र प्रदेश  | छत्तीसगढ़  | तमिलनाडु  | मिजोरम  | दादरा और नगर हवेली  | उत्तरांचल  | दमन और दीव  | नियम एवं शर्तें  | गोपनीयता नीति  | विज्ञापन हमारे साथ  | हमसे संपर्क करें
 
livehindustansamachar.com Copyrights 2016-2017. All rights reserved. Design & Development By MakSoft
 
Hit Counter