Friday 7th of August 2020
खोज

 
livehindustansamachar.com
समाचार विवरण  
 किसी मित्र को मेल पन्ना छापो   साझा यह समाचार मूल्यांकन करें      
Save This Listing     Stumble It          
 टिड्डी दल पुन: आया -प्रकोप से बचाव एवं नियंत्रण के कारगर उपाय करें : कमिश्नर (Thu, Jun 25th 2020 / 20:17:55)

 


लाइव हिंदुस्तान समाचार @ रीवा  
रीवा जिले में 30 मई को 5 गांवों में टिड्डी दल का प्रकोप हुआ था। रीवा जिले में 24 जून को ग्राम अगडाल, शिवपुर्वा, टीकर, रौरा, लौवा, लक्ष्मणपुर तथा गंगेव विकासखण्ड के कई गांव सहित 15 गांव में इसका प्रकोप हुआ। टिड्डी दल 25 जून को रीवा विकासखण्ड के ग्राम हर्दीशंकर, पड़ोखर, देवरा, खैरा, गोड़हर, करहिया, मैदानी, बहुरीबांध तथा सिरमौर विकासखण्ड के नगर परिषद् सिरमौर सहित ग्राम पंचायत सदहना , ग्राम झलवार, हरदुआ, मझियार, रगौली, कबरा गांव सहित कई गावो में टिड्डी दल देखा गया।
उप संचालक कृषि यूपी बागरी ने बताया कि टिड्डी दल ग्राम रकरी, भाटी जंगल, पवेरी, बरइयाकला, हनुमान विकासखण्ड के ग्राम चौहना, पटेहरा, खैरा, बिछरेहटा तथा जवा विकासखण्ड के ग्राम बसरेही, कुठली, भितरी में भी टिड्डी दल देखा गया है। इसी दिन नईगढ़ी विकासखण्ड के नीवी, लखनखोरिहान, डाढ़, नीवी शिवरतन तथा त्योंथर विकासखण्ड के कोनियाकला, कुठिला, डोडकिया, चौखड़ा, जमुई, गंगतीरा, बड़ागांव तथा कोनीखुर्द गांव में भी टिड्डी दल का प्रकोप हुआ। किसानों तथा आमजनता ने थाली, टीना, डीजे एवं ट्रेक्टर से तेज आवाज करके टिड्डी दल को भगाने का प्रयास किया गया है।

  • सिरमौर मे दिनभर टिडडी दल ने मचाया उत्पात, निष्क्रिय रहा स्थानीय प्रशासन

टिडडी दलो के दो समूहों ने नगर परिषद के 15 वार्डो के साथ साथ जनपद पंचायत सिरमौर के समीपी ग्राम पंचायतो मे भी दिनभर जमकर उत्पात मचाया ।टिडडी दलो के भगाने के लिए भले ही कलेक्टर ने आदेश के साथ दिशा निर्देश जारी किए हो पर किसी सक्षम अधिकारी के कान मे जू नही रेगी । परिणामस्वरूप कृषि व फलदार पेड़ व सब्जियों को वचाने मे किसान स्वयं ही हो हल्ला मचाकर भगाने मे लगे रहे ।नगर में चारो तरफ टिडडी दल मडराते रहे व मनचाहे जगह पर जमा होकर निपटाते हुए वढते रहे पर स्थानीय प्रशासन ने इन्हे भगाना वाजिव नही माना ।
टिडडी दलो के आने पूर्व नगर परिषद सिरमौर के द्वारा हजारो रू यू ही दिखावे मे खर्च कर दिया व जव भगाने का समय आया तव अमला स्वयं ही नदारत रहा । वहरहाल यह अभी तक तय नही हो पाया कि टिडडी दल कितने समूह में है व कहा कहा है व नगर मे कितने का नुकसान किया है ।

  • टिड्डी दल के प्रकोप से बचाव एवं नियंत्रण के कारगर उपाय करें : कमिश्नर

रीवा संभाग के कमिश्नर राजेश कुमार जैन ने आज टिड्डी दल के प्रकोप एवं उसके नियंत्रण की समीक्षा की। उन्होंने टिड्डी दलों पर सतत निगरानी रखते हुए टिड्डी दलों को भगाने एवं नियंत्रण के लिए प्रभावी कार्यवाही करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने निर्देशित किया कि सभी विभागों के समस्त मैदानी कर्मचारी एकजुट होकर टीम भावना से टिड्डी दलों के नियंत्रण के लिये प्रभावी कार्यवाही करें। श्री जैन ने कहा कि सभी ग्रामीणजन टोली बनाकर विभिन्न तरह के परम्परागत उपाय जैसे शोर मचाकर तथा ध्वनि विस्तारक यंत्रों मादल, ढोलक, खाली टीन के डिब्बे, थाली तथा डीजे बजायें अथवा ट्रैक्टर या बाइक का सायलेंसर निकालकर चलायें ताकि टिड्डियों को भगाया जा सके। किसी भी दशा में टिड्डियों को फसलों एवं जमीन पर बैठने नहीं दिया जाये ताकि उनसे होने वाले नुकसान से बचा जा सके।
संयुक्त संचालक कृषि एससी सिंगादिया ने इस दौरान जानकारी दी कि राजस्थान की सीमा पार करके मध्यप्रदेश में टिड्डी दलों का प्रवेश हुआ है। टिड्डियों का एक दल लगभग चार से पांच किलोमीटर लम्बा तथा दो किलोमीटर चौड़ा होता है। इस दल में आठ से दस करोड़ तक टिड्डियां हो सकती हैं। एक टिड्डी की रफ्तार 12 से 16 किलोमीटर प्रति घण्टा होती है। इनकी उम्र 90 दिन की होती है। एक टिड्डी एक दिन में अपने शरीर के वजन के बराबर वनस्पतियां खा जाती है। टिड्डी दल हवा के बहाव के साथ एक दिन में लगभग 150 किलोमीटर तक यात्रा करता है। टिड्डियों का एक छोटा दल एक दिन में दो हजार पांच सौ आदमियों के बराबर खाना खा सकता है। उन्होंने बताया कि विगत दो माह से रीवा संभाग अंतर्गत जिलों में लगातार टिड्डी दल आ रहे हैं। यह सर्वभक्षी कीट हैं जो प्राकृतिक और उगाई हुई वनस्पतियों को बहुत अधिक क्षति पहुंचाता है। परिणाम स्वरूप भोजन और चारे की राष्ट्रीय आपातकालीन स्थिति पैदा हो सकती है। टिड्डी दल की लोकेशन प्राप्त होते ही राजस्व, वन एवं कृषि विभाग तथा प्रशासनिक अधिकारियों के समन्वित प्रयास द्वारा ग्रामीणजनों के सहयोग से एवं प्रशासनिक व्यवस्था करते हुए टिड्डियों को भगाने तथा रात्रि में विश्राम स्थल पर दमकल एवं पावर स्प्रेयर के माध्यम से कीटनाशकों का छिड़काव कर काफी हद तक टिड्डियों को मार गिराया जा रहा है। लेकिन वर्तमान समय में टिड्डी दलों का आगमन जारी है। खरीफ फसलों की बोनी प्रारंभ हो चुकी है। वर्षा हो जाने से खेतों में पर्याप्त नमी की स्थिति में मादा टिड्डियां जमीन में अण्डे दे सकती हैं। एक मादा टिड्डी अपने अण्ड निक्षेपणकाल में पांच सौ से 15 सौ तक अण्डे देती हैं। अण्डों से 10-12 दिन में शिशु निकल आते हैं, जिससे आगामी समय में काफी वृद्धि की आशंका है तथा टिड्डी दल स्थानीय रूप ले सकता है।
संयुक्त संचालक ने कहा है कि टिड्डियों के ठहरने, रात्रि विश्राम के समय अगले दिन प्रात: तीन बजे से प्रभावी नियंत्रण के लिए ट्रैक्टर चलित स्प्रेयर पम्प एवं दमकल से कीटनाशक दवा क्लोरपायरीफास 20 ईसी 12 सौ मिली या लेम्डासायलोथ्रिन 5 ईसी 400 मिली अथवा डेल्टामेथ्रिन 28 ईसी 600 मिली को 500 लीटर पानी में घोलकर छिड़काव कर नष्ट करें।


livehindustansamachar.com
 
समान समाचार  
livehindustansamachar.com
     
28 साल पहले कार्यकर्ता के रूप में पहुंचे थे अब PM बनकर किया भूमिपूजन

रीता अश्वनी तिवारी
पांच अगस्त 2020 की तारीख अब इतिहास में दर्ज हो गई है। 492 वर्ष बाद दोबारा राम मंदिर आकार लेगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अयोध्या जाकर राम मंदिर के निर्माण के लिए भूमिपूजन किया है। इसी के स

read more..

28 साल पहले कार्यकर्ता के रूप में पहुंचे थे अब PM बनकर किया भूमिपूजन

प्रधानमंत्री की माता हीराबेन ने टीवी पर देखा राम मंदिर का भूमि पूजन

हांगकांग के रास्ते अयोध्या पहुंची पीओके स्थिति पवित्र तीर्थ शारदा पीठ की मिट्टी

हिंदुस्तान की नीति है, जितने ताकतवर होंगे, उतनी ही शांति होगी : PM

राम-मंदिर निर्माण के शुभारंभ पर सभी को बधाई :राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद

भव्य राम मंदिर निर्माण का भूमि पूजन :शताब्दियों बाद पूरा हुआ सपना: योगी

रामजन्मभूमी में भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर की PM ने रखी आधारशिला

श्रीराम जन्मभूमि परिसर में पीएम मोदी ने लगाया दिव्य पारिजात का पौधा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हनुमानगढ़ी में की पूजा, रामजन्मभूमि के लिए रवाना

अयोध्या में भूमि पूजन के लिए पीएम मोदी ने पहना पहना धोती-कुर्ता

भूमि पूजन से पहले अयोध्या में तीन चक्र की सुरक्षा, हर गली-चौराहे पर कड़ा पहरा

राम जन्म भूमि : अभूतपूर्व क्षण के लिए अयोध्या तैयार,पीएम करेंगे भूमि पूजन

भारतवर्ष का अहम व्यापारिक केंद्र थी प्रभु श्रीराम की अयोध्या नगरी

राम जन्मभूमि : विवाद से लेकर समाधान तक अय़ोध्या इतिहास में दर्ज

भूमिपूजन :22-23 दिसंबर 1949 को रखी थी राम मंदिर मुद्दे की नींव

राजनीति का मुख्य रंग समाजवाद ,धर्मनिरपेक्षता नहीं ''हिंदुत्व'' हो गया !

अयोध्या की लड़ाई लड़ने वाले ही रहेंगे राम मंदिर भूमि पूजन समारोह से दूर !

राम मंदिर आंदोलन में चर्चित : सियासत में किनारे या अनंत में विलीन

अभिनेता सुशांत सिंह केस की जांच, सुर्खियों में हैं पटना एसपी सिटी विनय तिवारी

दुनिया में नशे के कारण प्रतिवर्ष लगभग 40 लाख लोगों की जाती है जान !

रामजन्मभूमि, देव नगरी, मोक्षदायिनी है भगवान राम की नगरी अयोध्या

भारतीय स्मार्टफोन बाजार में विदेशी स्मार्टफोन निर्माण कंपनियों का कब्जा !

मुखर्जी चौक में पांच अगस्त को लहराएगा 110 फीट ऊंचा तिरंगा

राजनीतिक जीवन में सबसे कठिन मोड़ पर सियासत का जादूगर ?

सर्पदंश की घटना में ओझा, गुनिया केअंधविश्वास में समय व्यर्थ न करें परिजन ,स्वास्थ्य केंद्र में उपचार कराये : CMHO

पेंच नेशनल पार्क के रेस्कयू दल ने फार्म हाउस में किया भालू का रेस्कयू

सेना के जवान ने निभाई गांव की माटी की सौगंध, मातृशक्ति संगठन ने किया सम्मान

सोमालिया से भारत आ सकता है टिड्डियों का दल , 6 राज्यों में हाई अलर्ट

रामपुर बाजार सड़क की हालत दयनीय ,स्थानीय लोगो ने की मरम्मत कराने की मांग

लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर भारतीय सेना ने तैनात किए टी-90 भीष्म टैंक

voice news
हमारे रिपोर्टर  
 
 
View All हमारे रिपोर्टर
पंचांग-पुराण   
हनुमान होते तो नहीं होता श्रीराम का स्वर्गारोहण, इसलिए किया था ऐसा उपाय
जानिए ,रक्षाबंधन की तिथि, वार, शुभ मुहूर्त, पूजा विधि सहित कथा !
व्यक्ति की राशि पर भी निर्भर करता है तो उसे कैसे जीवनसाथी मिलेगा
मोक्षदायिनी और पुण्यफल देने वाली देवशयनी एकादशी की पूजाविधि और शुभ मुहूर्त
कांवड़ यात्रा की अनुमति देने से झारखंड सरकार ने किया इन्कार
live tv
livehindustansamachar.com
livehindustansamachar.com
livehindustansamachar.com
livehindustansamachar.com
livehindustansamachar.com
 
पंचांग-पुराण   
राशिफल अंक राशि
शुभ पंचांग कुम्भ [ महाकुम्भ ]
आस्था प्रवचन
हस्तरेखा वास्तु
रत्न फेंग शुई
कुंडली विशेष दिवस
सुविचार व्रत -उपवास
प्रेरक प्रसंग
 
लाइव अपडेट  
लाइव हिंदुस्तान समाचार फेसबुक ,ट्वविटर ,इंस्ट्राग्राम , लिंक्डइन से जुड़ने के लिए फॉलो करे या विजिट करे : www.livehindustansamachar.com
 
समाचार चैनल  
स्थानीय राजनीति
खेल COVID-19
बिज़नेस अपराध
जीवन-शैली शिक्षा
राष्ट्रीय सम्पादकीय
अंतर्राष्ट्रीय सोशल मीडिया
कैरियर मनोरंजन
न्यायालय आपदा
अनुसंधान ब्लॉग
निर्वाचन मौसम
भष्ट्राचार कृषि
HEALTH शासन
योजना प्रशासन
कविता/कहानी लाइव हिंदुस्तान समाचार [विशेष]
 
Submit Your News
 
 
 | होम  | कविता/कहानी  | न्यायालय  | मौसम  | कैरियर  | स्थानीय  | जीवन-शैली  | बिज़नेस  | राष्ट्रीय  |  कृषि  | प्रशासन  | अपराध  | लाइव हिंदुस्तान समाचार [विशेष]  | ब्लॉग  | अंतर्राष्ट्रीय  | HEALTH  | भष्ट्राचार  | COVID-19  | आपदा  | निर्वाचन  | शिक्षा  | योजना  | खेल  | सम्पादकीय  | राजनीति  | शासन  | अनुसंधान  | मनोरंजन  | सोशल मीडिया  | महाराष्ट्र  | लद्दाख  | बिहार  | सिक्किम  | जम्मू और कश्मीर  | तमिलनाडु  | उड़ीसा  | मिजोरम  | छत्तीसगढ़  | आंध्र प्रदेश  | हिमाचल प्रदेश  | कर्नाटक  | अरुणाचल प्रदेश  | दमन और दीव  | पंजाब  | उत्तर प्रदेश  | त्रिपुरा  | पश्चिम बंगाल  | केरल  | लक्ष्यदीप  | पांडिचेरी  | दादरा और नगर हवेली  | उत्तरांचल  | मेघालय  | दिल्ली  | नगालैंड  | असम  | मणिपुर  | राजस्थान  | चंडीगढ़  | गोवा  | मध्य प्रदेश  | अंडमान एवं निकोबार  | गुजरात  | तेलंगाना  | झारखंड  | हरियाणा  | नियम एवं शर्तें  | गोपनीयता नीति  | विज्ञापन हमारे साथ  | हमसे संपर्क करें
 
livehindustansamachar.com Copyrights 2016-2017. All rights reserved. Design & Development By MakSoft
 
Hit Counter