Thursday 1st of October 2020
खोज

 
livehindustansamachar.com
समाचार विवरण  
 किसी मित्र को मेल पन्ना छापो   साझा यह समाचार मूल्यांकन करें      
Save This Listing     Stumble It          
 मैकमोहन रेखा को नहीं मानता ,अरुणाचल भारत का हिस्सा नहीं : चीन (Tue, Sep 8th 2020 / 08:14:56)

 


लाइव हिंदुस्तान समाचार
अरुणाचल प्रदेश में बॉर्डर से चीन की सेना द्वारा पांच भारतीयों के कथित अपहरण करने के मामले में केंद्रीय मंत्री किरेन रिजिजू के सवाल का जवाब देते हुए चीन ने कड़ा जवाब दिया है |  चीन ने कहा है कि वह अरुणाचल को भारत का हिस्सा नहीं मानता बल्कि यह चीन के दक्षिणी तिब्बत का इलाका है |
चीन के सरकारी अख़बार ग्लोबल टाइम्स के मुताबिक़ चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता चाओ लिजिएंग ने कहा, "चीन ने कभी 'कथित' अरुणाचल प्रदेश को मान्यता नहीं दी, ये चीन के दक्षिणी तिब्बत का इलाका है |  हमारे पास भारतीय सेना की ओर से इस इलाके से पांच लापता भारतीयों को लेकर सवाल आया है लेकिन अभी हमारे पास इसे लेकर कोई जानकारी नहीं है | "
भारतीय सेना ने अरुणाचल प्रदेश के ऊपरी उपनसिरी जीवंतले से पांच लोगों के 'पीपुल्स लिबरेशन आर्मी' (पीवी) के सैनिकों द्वारा कथित तौर पर अपहरण किए जाने के मुद्दे को चीनी सेना के समक्ष उठाया था।
रविवार की रात एक ट्विट के जरिए केंद्रीय मंत्री किरेन रिजिजू ने इसकी जानकारी देते हुए लिखा था कि भारतीय सेना चीन के जवाब का इंतजार कर रही है। उन्होंने लिखा, "भारतीय सेना ने पीपुल्स लिब्रेशन आर्मी समकक्ष को संदेश भेजा है, जवाब का इंतजार किया जा रहा है।"
दरअसल, रिजिजू ने एक पत्रकार के ट्वीट के जवाब में ये बात लिखी थी। एक पत्रकार ने ट्वीट के ज़रिए पूछा था, "पीपुल्स लिब्रेशन आर्मी द्वारा अरुणाचल प्रदेश से पांच भारतीयों के कथित अपहरण को लेकर क्या अपडेट है? क्या विदेश मंत्रालय, किरेन रिजिजू, प्रेमा खांडू इस पर कोई जवाब साझा नहीं करेंगे?"
इस साल जून में लद्दाख सीमा पर भारत और चीन के बीच हुई झड़प में 20 भारतीय जवानों की मौत हुई और इसके बाद से ही दोनों देशों के बीच चाव उठता रहा है।
भारतीय सेना के एक रिटायर्ड जनरल ने कहा, "चीन का अरुणचल को लेकर ये रूख़ बिल्कुल भी नया नहीं है। इससे पहले भी चीन अरुणचल को अपना हिस्सा मानता रहा है। चीन पहले ही था। साफ किया है कि वह मैकमोहन रेखा को नहीं मानता है। यही कारण है कि तिब्बती धर्म गुरु दलाई लामा के भारत दौरे पर चीन हमेशा नकारात्मक रहा है। "
"आम तौर पर भारत चीन-भारत सीमा के लगभग 70-80 किलोमीटर पीछे बेस कैंप रखता था लेकिन 1986-87 के दौर से भारतीय सेना से सीमा से ये दूरी करते हुए अपने हिस्से में ही आगे बढ़ा। हालांकि चीन ने उस वक़्त की कड़ी आपत्ति जताई। नहीं जताई क्योंकि उस समय भारत-चीन की विकास दर यानी जीडीपी लगभग समान थी लेकिन 2008 में जब भारत अमरीका के क़रीब आए और दोनों देशों के बीच परमाणु संधि हुई तो चीन को बात यकीनन खटकी। अब हालिया समय में भारत की ओर से सीमावर्ती क्षेत्रों में। में निर्माण कार्य में उछाल आई है और यही कारण है कि चीन बॉर्डर को लेकर तनाव पैदा कर रहा है। "
29 अगस्त की रात भी हुई थी झड़प
इससे पहले 29-30 अगस्त की रात भारतीय सेना के मुताबिक दोनों देशों के सैनिकों के बीच झड़प हुई थी। किसी के घायल होने की अब तक कोई सूचना नहीं मिली है। भारतीय सेना ने बयान जारी करते हुए कहा था कि चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी यानी पीवा ने सीमा पर यथास्थिति बदलने की कोशिश की लेकिन सतर्क भारतीय सैनिकों ने ऐसा नहीं होने दिया।
इस बयान के मुताबिक, "भारतीय सैनिकों ने पैंगॉन्ग त्सो लेक में चीनी सैनिकों के उकसाने वाले क़दम को रोक दिया है। भारतीय सेना बातचीत के ज़रिए शांति सेना करने की पक्षधर है लेकिन इसके साथ ही अपने इलाक़े की अखंडता की सुरक्षा के लिए भी प्रतिबद्ध है। पूरे विवाद पर ब्रिगेडैंडर स्तर पर बैठक जारी है। "हालाँकि चीन ने अपने सैनिकों के एलएसी को पार करने की ख़बरों का खंडन किया।
चीन के विदेश मंत्रालय ने कहा कि चीन की सेना वास्तविक नियंत्रण रेखा का सख़्ती से पालन करती है और चीन की सेना ने कभी भी इस रेखा को पार नहीं किया है। दोनों देशों की सेना इस मुद्दे पर संपर्क में हैं।
दूसरी तरफ़ चीन के विदेश मंत्री कलाबे ने कहा है, "भारत-चीन सीमा पर स्थिरता बनाए रखने के लिए चीन प्रतिबद्ध है। स्थिति को तनावपूर्ण बनाने या उकसाने के लिए चीन कभी भी पहल नहीं करेगा।"
उन्होंने फ्रेंच इंस्ट्टीयूट ऑफ इंटरनेशनल रिलेशन में भाषण देते हुए कहा, "दोनों देशों के बीच अभी तक सीमा तय नहीं की गई है, इसलिए समस्याएँ हैं। चीन अपनी संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता को मज़बूती से बनाए रखने, और भारतीय पक्ष के साथ बातचीत के माध्यम। से सभी प्रकार के मुद्दों का हल निकालने के लिए तैयार है। "
उन्होंने ये भी कहा कि चीन 'चाहे नेबरहुड' की नीति पर विश्वास रखता है, और अपने पड़ोसियों के साथ दोस्ताना और स्थिर संबंध चाहता है।
भारत और चीन के बीच 3,500 किलोमीटर लंबी सरहद है और दोनों देश सीमा की वर्तमान स्थिति पर सहमत नहीं हैं। इसमें दोनों देशों के बीच 1962 में जंग भी हो चुकी है।

livehindustansamachar.com
 
समान समाचार  
livehindustansamachar.com
     
दुनिया के 100 प्रभावशाली व्यक्तियों की सूची में भारत के पीएम का नाम

लाइव हिंदुस्तान समाचार
दुनिया की सबसे प्रतिष्ठित मैगजीन में से एक टाइम ने साल 2020 के सबसे प्रभावशाली व्यक्तियों की सूची जारी कर दी है। टाइम मैगजीन हर साल ये लिस्ट जारी करती है, इसमें अलग-अलग क्षेत्र के व्यक

read more..

दुनिया के 100 प्रभावशाली व्यक्तियों की सूची में भारत के पीएम का नाम

दुनिया में कार्बन उत्सर्जन करने में गरीबों से ज्यादा अमीरों की भागीदारी

नेपाली भूभाग और संपूर्ण सीमा स्वाध्याय सामग्री में भारतीय भूक्षेत्र का नक्शा

सीमा के पास चीनी सैन्य ठिकानों का निर्माण कार्य, अलर्ट पर भारतीय सेना

एससीओ बैठक में पाक ने पेश किया नया नक्शा, भारत ने छोड़ी बैठक

चीन को पटखनी दे भारत संयुक्त राष्ट्र महिला स्थिति आयोग का सदस्य बना

भारत में पाक के 23 आतंकवादी हैं वांछित, 1 से 10 लाख तक का ईनाम !

चीनी महिला वीरोलॉजिस्ट का दावा-कोरोना वायरस चीन द्वारा मानव निर्मित

धर्मगुरु दलाई लामा ने अमीरी और गरीबी की खाई पाटने का किया आह्वान

चाइना का भारत ही नहीं बल्कि दुनिया पर खिलौना बाजार पर दबदबा !

2021 के मध्य तक कोरोना वैक्सीन के वितरण की उम्मीद नहीं : WHO

लंबी और चुनौतीपूर्ण प्रक्रिया है अफगान-तालिबान शांति वार्ता : संयुक्त राष्ट्र

बांग्लादेश की मस्जिद में एक साथ छह एसी में विस्फोट, 17 लोगों की मौत

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत की स्थायी सीट का फ्रांस ने किया समर्थन

CPEC की आड़ में चीन और पाक 5 साल से बना रहे जैविक हथियार

दुनिया के मीडिया ने देखा राम मंदिर का भूमिपूजन , जानिए किसने क्या लिखा !

पाक में गुरुद्वारे को मस्जिद में बदलने की साजिश, भारत ने जताया विरोध

फ्रांस से भारत को राफेल विमानों ने भरी उड़ान,UAE के एयरबेस पर लैंडिंग

दुनिया के शीर्ष पांच अमीरों में अंबानी एशिया से इकलौते अमीर व्यक्ति

नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ने कहा -भगवान राम का जन्म नेपाल में हुआ था

सीमा पर शांति के लिए माने प्रोटोकॉल,भारत ने चीन को बताई ''लक्ष्मण रेखा''

अफ्रीकी देशों में काम या मदद के लिए चीन और भारत के पास बराबर मौका

सीमा विवाद सिर्फ भारत से नहीं सभी 18 पड़ोसियों से है चीन का विवाद

चीन द्वारा LoC पर सैनिक जमावड़ा बढ़ाने को लेकर भारत तनाव में नहीं

भारत व चीन 12 घंटे की बातचीत के बाद एलएसी से पीछे हटने पर सहमत

चीन की तानाशाही पर रोक लगाने एशिया में सेना तैनात करेगा अमेरिका

भूटान ने नहीं रोका असम जाने वाला पानी, बांध मरम्मत का दिया हवाला

अमेरिका ने कह -पाक अब भी आतंकियों के लिए सुरक्षित ठिकाना है ,यूएन बोला- सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों के तहत अपने दायित्वों का पालन करेंगे देश

सीमा विवाद से भारत-चीन रिश्ते में तनाव, क्या ट्रंप कर रहे हैं मध्यस्थता !

शहीद जवानों को अमेरिका ने दी श्रद्धांजलि, कहा- हम भारत के साथ

voice news
हमारे रिपोर्टर  
 
 
View All हमारे रिपोर्टर
पंचांग-पुराण   
श्रद्धालु फिर से कर सकेंगे मां वैष्णो देवी के दर्शन, नियमों के साथ यात्रा की अनुमति
हनुमान होते तो नहीं होता श्रीराम का स्वर्गारोहण, इसलिए किया था ऐसा उपाय
जानिए ,रक्षाबंधन की तिथि, वार, शुभ मुहूर्त, पूजा विधि सहित कथा !
व्यक्ति की राशि पर भी निर्भर करता है तो उसे कैसे जीवनसाथी मिलेगा
मोक्षदायिनी और पुण्यफल देने वाली देवशयनी एकादशी की पूजाविधि और शुभ मुहूर्त
live tv
livehindustansamachar.com
livehindustansamachar.com
livehindustansamachar.com
livehindustansamachar.com
livehindustansamachar.com
 
पंचांग-पुराण   
राशिफल अंक राशि
शुभ पंचांग कुम्भ [ महाकुम्भ ]
आस्था प्रवचन
हस्तरेखा वास्तु
रत्न फेंग शुई
कुंडली विशेष दिवस
सुविचार व्रत -उपवास
प्रेरक प्रसंग
 
लाइव अपडेट  
लाइव हिंदुस्तान समाचार
 
समाचार चैनल  
LOCAL राजनीति
SPORTS जीवन-शैली
BUSINESS अपराध
कार्यक्रम शिक्षा
EDITORIAL अंतर्राष्ट्रीय
SOCIAL MEDIA कैरियर
INTERTAINMENT आपदा
अनुसंधान ब्लॉग
निर्वाचन टेक्नोलॉजी
न्यायालय कृषि
HEALTH शासन
प्रशासन प्राकृतिक/धरोहर
 
Submit Your News
 
 
 | होम  | जीवन-शैली  | HEALTH  | ब्लॉग  | प्रशासन  | शिक्षा  | अनुसंधान  | कैरियर  | INTERTAINMENT  | निर्वाचन  | SPORTS  | EDITORIAL  | राजनीति  | आपदा  |  कृषि  | न्यायालय  | शासन  | प्राकृतिक/धरोहर  | कार्यक्रम  | LOCAL  | अंतर्राष्ट्रीय  | टेक्नोलॉजी  | अपराध  | SOCIAL MEDIA  | BUSINESS  | लक्ष्यदीप  | हरियाणा  | असम  | मेघालय  | चंडीगढ़  | मणिपुर  | छत्तीसगढ़  | उड़ीसा  | राजस्थान  | तेलंगाना  | गोवा  | जम्मू और कश्मीर  | अरुणाचल प्रदेश  | हिमाचल प्रदेश  | झारखंड  | उत्तरांचल  | तमिलनाडु  | गुजरात  | उत्तर प्रदेश  | पश्चिम बंगाल  | अंडमान एवं निकोबार  | पंजाब  | दमन और दीव  | मध्य प्रदेश  | महाराष्ट्र  | सिक्किम  | नगालैंड  | बिहार  | लद्दाख  | आंध्र प्रदेश  | कर्नाटक  | दादरा और नगर हवेली  | केरल  | त्रिपुरा  | नई दिल्ली  | दिल्ली  | मिजोरम  | पांडिचेरी  | नियम एवं शर्तें  | गोपनीयता नीति  | विज्ञापन हमारे साथ  | हमसे संपर्क करें
 
livehindustansamachar.com Copyrights 2016-2017. All rights reserved. Design & Development By MakSoft
 
Hit Counter