Thursday 26th of November 2020
खोज

 
livehindustansamachar.com
पंचांग पूरन विवरण  
 Mail to a Friend Print Page   Share This News Rate      
Share This News Save This Listing     Stumble It          
 

  करवा चौथ : कल्याणकारी है कार्तिक मास, जानिए इसका महत्व (Wed, Nov 4th 2020 / 16:11:06)

लाइव हिंदुस्तान समाचार
कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्थी के दिन स्त्रियां अपने पति की लंबी आयु के लिए श्रृंगार करती हैं तथा भगवान रजनीश से पति की लंबी आयु के लिए प्रार्थना पूजा तथा दीपक के माध्यम से उनके शरीर में आने वाले दिनों में पर्याप्त ऊर्जा बनी रहे इस कामना से करवा चौथ का व्रत करती है।
कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी करक चतुर्थी या करवा चौथ के नाम से विख्यात है। करवा आप जानते हैं तथा कार्तिक मास दक्षिणायन से उत्तरायण की ओर प्रवहमान मास है। पूर्ण कार्तिक मास व्रत पर्वों का मास कहा जाता है जिसमें त्योहारों पर दीपक से संबंधित पूजन किया जाता है। हर मास का यूं तो अलग अलग महत्व होता है मगर व्रत एवं तप की दृष्टि से कार्तिक की बहुत महिमा एवं उपयोगिता बताई गई है- मासानां कार्तिक: श्रेष्ठो देवानाम मधुसूदन:। तीर्थं नारायणाख्यम हि त्रितयम दुर्लभम कलौ।। अर्थात भगवान विष्णु एवं विष्णु तीर्थ के समान हैं।
कार्तिक मास श्रेष्ठ तथा दुर्लभ
कार्तिक मास बहुत ही कल्याणकारी मास माना जाता है। कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्थी के दिन स्त्रियां अपने पति की लंबी आयु के लिए श्रृंगार करती हैं तथा भगवान रजनीश से पति की लंबी आयु के लिए प्रार्थना पूजा तथा दीपक के माध्यम से उनके शरीर में आने वाले दिनों में पर्याप्त ऊर्जा बनी रहे इस कामना से करवा चौथ का व्रत करती है।
कार्तिक मास में सूर्य और चंद्रमा पृथ्वी से दूर चले जाते हैं। इस संसार में तीन प्रकार की अग्नि हैं पहली सूर्य जिससे हम ऊर्जा प्राप्त करते हैं दूसरी सूर्य से चमकने वाला चंद्रमा तथा तीसरी अग्नि है लौकिक अग्नि अर्थात दीपक की अग्रि , हवन की अग्नि। इस पृथ्वी पर जलने वाली अग्नि को लौकिक अग्नि कहते हैं। कार्तिक मास में यह दोनों अग्नि सूर्य तथा चंद्रमा की अग्नि पृथ्वी से अत्यंत दूर हो जाती है। ज्योतिष शास्त्रानुसार कार्तिक मास में सूर्य नीच के हो जाते हैं जिससे पृथ्वी पर ऊर्जा का स्रोत कम हो जाता है तथा पर्याप्त मात्रा में पृथ्वी पर ऊर्जा का स्रोत प्राप्त नहीं होता है। इससे पुरुष संप्रदाय में ह्रदय रोग शरीर में विकार इत्यादि होने लगते हैं उसके समूल नष्ट के लिए स्त्रियां कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को दीपक के माध्यम से चंद्रमा से अग्नि को ग्रहण कर अपने पति को प्रेक्षित करती हैं और प्रार्थना करती है कि भगवान रजनीश उनके पति की आयु में वृद्धि करें तथा उनका आशीर्वाद हमेशा बना रहे।
कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को केवल चंद्र देवता की ही पूजा नहीं होती अपितु शिव पार्वती और स्वामी कार्तिकेय को भी पूजा जाता है। कहते हैं शिव पार्वती की पूजा का विधान इसलिए किया जाता है कि जिस प्रकार शैलपुत्री पार्वती ने घोर तपस्या करके भगवान शंकर को प्राप्त किया तथा अपने अखंड सौभाग्य की रक्षा की। वैसी ही रक्षा प्रत्येक स्त्री के पति की हो और उनका अखंड सौभाग्य बना रहे। कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी की व्रत विधि हमें कृष्ण पक्ष की तृतीया की रात्रि को निराहार रहना चाहिए तथा यह व्रत तृतीया की पूर्ण रात्रि चतुर्थी के पूरे दिन तथा रात्रि को चंद्रमा की पूजन कर पति के हाथ से जल भोजन लेना चाहिए।

 
livehindustansamachar.com
 
समान पंचांग-पुराण  
livehindustansamachar.com
     
करवा चौथ : जानिए व्रत विधि, पूजन सामग्री, पूजा विधि, शुभ मुहूर्त
लाइव हिंदुस्तान समाचार
सुहागिन महिलाओं ने करवा चौथ की तैयारियां पूर कर ली हैं। 4 नवंबर को सूर्योदय के साथ ही कठिन व्रत शुरू हो जाएगा जो रात में चंद्रमा के उदय के साथ पूरा होगा। इस दौरान महिलाओं पानी भी ग्रहण नहीं करती हैं। करवा चौथ के बारे में कहा जाता है कि यह
और अधिक पढ़ें..

करवा चौथ : जानिए व्रत विधि, पूजन सामग्री, पूजा विधि, शुभ मुहूर्त

voice news
हमारे रिपोर्टर  
 
 
View All हमारे रिपोर्टर
पंचांग-पुराण   
भगवान आशुतोष के द्वादश ज्योतिर्लिंगों में से एक केदारनाथ धाम के कपाट
करवा चौथ : कल्याणकारी है कार्तिक मास, जानिए इसका महत्व
करवा चौथ : जानिए व्रत विधि, पूजन सामग्री, पूजा विधि, शुभ मुहूर्त
शारदीय नवरात्र : अष्टमी और नवमी पर करें कन्या पूजन, होगी मां की कृपा !
नवरात्र स्पेशल : मां दुर्गा के प्रतिदिन जपे 108 नाम, हर मनोकामना होगी पूर्ण
live tv
livehindustansamachar.com
livehindustansamachar.com
livehindustansamachar.com
livehindustansamachar.com
 
पंचांग-पुराण   
राशिफल नवरात्रि [ स्पेशल ]
आस्था सुविचार
प्रेरक प्रसंग प्रवचन [कथा ]
व्रत [उपवास ]
 
लाइव अपडेट  
लाइव हिंदुस्तान समाचार वेब न्यूज़ पोर्टल LIVEHINDUSTANSAMACHAR.COM [Editorial Contact for news, business, complaints [ALL INDIA] Sirmaur, District Rewa, Madhya Pradesh HEAD OFFICE Nagar Sirmaur, Tehsil Sirmaur District Rewa [MP] India Zip Code-486448 MAIL ID-AT@ LIVEHINDUSTANSAMACHAR.COM Mob- +919425330281,+919893112422
 
समाचार चैनल  
LOCAL राजनीति
SPORTS जीवन-शैली
BUSINESS CRIME
सर्वे/ आडिट EDUCATION
EDITORIAL अंतर्राष्ट्रीय
SOCIAL MEDIA JOB
INTERTAINMENT आपदा
अनुसंधान ब्लॉग
निर्वाचन-2020 टेक्नोलॉजी
COURT कृषि
HEALTH राष्ट्रीय
प्रशासन कार्यक्रम
भ्रष्टाचार
 
Submit Your News
 
 
 | होम  | CRIME  | आपदा  | सर्वे/ आडिट  | भ्रष्टाचार  | राजनीति  | ब्लॉग  | टेक्नोलॉजी  | JOB  | कार्यक्रम  | EDUCATION  | EDITORIAL  | BUSINESS  | निर्वाचन-2020  | प्रशासन  | HEALTH  | SOCIAL MEDIA  | राष्ट्रीय  | जीवन-शैली  | LOCAL  | अंतर्राष्ट्रीय  | INTERTAINMENT  | SPORTS  |  कृषि  | अनुसंधान  | COURT  | बिहार  | तेलंगाना  | झारखंड  | हिमाचल प्रदेश  | त्रिपुरा  | छत्तीसगढ़  | मणिपुर  | गुजरात  | पंजाब  | जम्मू और कश्मीर  | पांडिचेरी  | मेघालय  | कर्नाटक  | लक्ष्यदीप  | उड़ीसा  | चंडीगढ़  | मध्य प्रदेश  | सिक्किम  | गोवा  | राजस्थान  | केरल  | दमन और दीव  | नई दिल्ली  | पश्चिम बंगाल  | तमिलनाडु  | उत्तर प्रदेश  | हरियाणा  | दादरा और नगर हवेली  | नगालैंड  | अंडमान एवं निकोबार  | महाराष्ट्र  | आंध्र प्रदेश  | लद्दाख  | उत्तरांचल  | अरुणाचल प्रदेश  | मिजोरम  | असम  | दिल्ली  | नियम एवं शर्तें  | गोपनीयता नीति  | विज्ञापन हमारे साथ  | हमसे संपर्क करें
 
livehindustansamachar.com Copyrights 2016-2017. All rights reserved. Design & Development By MakSoft
 
Hit Counter